Annabhau Sathe Natyagriha

    पुणे: पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) अण्णाभाऊ साठे नाट्यगृह (Annabhau Sathe Natyagriha) में करीब दो करोड़ रुपए के इंटरनेशनल बोस कंपनी के स्पीकर्स (Speakers) चुराने का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। चोरों ने स्पीकर्स चुराकर उसके बॉक्स के अंदर डुप्लीकेट साधारण स्पीकर्स लगाए हैं। यह मामला 6 महीने पहले का है, इसके बावजूद महानगरपालिका प्रशासन केवल कागजी कार्रवाई कर शांत बैठ गया है। महानगरपालिका की सर्वसाधारण सभा में यह मामला उजागर होने के बाद पुलिस (Police) में मामला दर्ज कराने की गतिविधियां तेज की गई। बहरहाल इस घटना से महानगरपालिका के दूसरे नाट्यगृहों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हुआ है। 

    बिबवेवाड़ी में महानगरपालिका की ओर से कुछ वर्ष पहले आधुनिक अण्णाभाऊ साठे नाट्यगृह बनाया गया। इसमें इंटरनेशनल बोस कंपनी के करीब दो करोड़ रुपए के 12 स्पीकर्स लगाए गए थे। लॉकडाउन में यहां कोई भी कार्यक्रम नहीं हुआ। इस अवधि में चोरों ने सभागृह के 12 स्पीकर्स चुराकर उन स्पीकर्स की जगह पर डुप्लीकेट और साधारण क्षमता के स्पीकर लगाए। अक्टूबर में नाट्यगृह शुरू करने की अनुमति मिलने के बाद महानगरपालिका प्रशासन की ओर से निरीक्षण किया गया। तब यहां 12 स्पीकर्स हटाकर वहां डुप्लीकेट स्पीकर लगाने का मामला सामने आया। विद्युत विभाग द्वारा इसकी जानकारी सांस्कृतिक विभाग को दी गई।

     चोरों ने नाट्यगृह के सीसीटीवी की तोड़फोड़ 

    चोरों ने केवल स्पीकर्स ही नहीं चुराए, बल्कि नाट्यगृह के सीसीटीवी की तोड़फोड़ करने से वे बंद अवस्था में हैं। इसके कारण यह चोरी किसने की, इसकी जानकारी नहीं मिल सकी। यह घटना घटने के समय वहां कार्यरत सिक्योरिटी कर्मचारियों की उपस्थिति बुक उपलब्ध नहीं होने की चौंकाने वाली जानकारी सामने आयी है। 

    एनसीपी के नगरसेवक ने उठाया चोरी का मुद्दा

    महानगरपालिका की सर्वसाधारण सभा में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नगरसेवक सुभाष जगताप ने यह मुद्दा उठाया। स्पीकर्स की चोरी होने के बाद अब तक क्या कार्रवाई की गई? यह सवाल उन्होंने उठाया। लॉकडाउन की अवधि में नाट्यगृह में कोई भी कार्यक्रम नहीं हुआ था। इस अवधि में यह चोरी कैसे हुई? यह सोचने वाली बात है। महाननगरपालिका के नाट्यगृहों में करोड़ों रुपयों की सामग्री होती है, वहां सुरक्षा के लिए सुरक्षा कर्मचारी और सीसीटीवी कैमरे कार्यरत रहते हैं, फिर यह सब कैसे हुआ? 

    तीन कर्मचारियों को शो-कॉज नोटिस जारी 

    महानगरपालिका के सांस्कृतिक विभाग ने इस मामले में महानगरपालिका के तीन कर्मचारियों को शो-कॉज नोटिस जारी की है। संबंधित कर्मचारियों द्वारा नोटिस का अब तक जवाब नहीं देने की जानकारी मिली है। नगरसेवक अविनाश बागवे ने इसे काफी गंभीर मामला बताकर इस बारे में संपूर्ण जानकारी रखनेवाले व्यक्ति का ही यह कार्य रहने का अंदेशा जताया। इस मामले में तत्काल अपराधिक मामला दर्ज कराने की मांग की गई। 

    क्या करते हैं सुरक्षा अधिकारी

    इस महानगरपालिका के सांस्कृतिक विभाग प्रमुख संतोष वारुले ने कहा कि महानगरपालिका  प्रशासन की ओर से इस मामले की तत्काल जानकारी ली गई। इस बारे में विद्युत विभाग का पत्र भी मिला है। पुलिस में जल्द एफआईआर भी दर्ज की जाएगी। इस दौरान नगरसेवकों ने गणेश कलाक्रीडा मंच की 200 कुर्सियां टूटने की जानकारी भी सामने लायी। नगरसेवक प्रशांत जगताप ने वानवड़ी स्थित महात्मा फुले सभागृह स्थित वीआईपी रूम की तोड़-फोड़ होने और यह कक्ष शराबियों का अड्डा बनने का आरोप लगाया। इस जगह पर 500 से अधिक खाली बॉटल्स मिली हैं। फिर सुरक्षा कर्मचारी क्या काम करते हैं, यह सवाल भी उठाया।