पिंपरी-चिंचवड पुलिस की सतर्कता से बची अहमदनगर के डॉक्टर की जान

    पिंपरी: पिस्टल (Gun) का डर दिखाकर डॉक्टर को लूटने की योजना को विफल बनाते हुए पिंपरी-चिंचवड पुलिस (Pimpri-Chinchwad Police) ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार कर अहमदनगर के एक डॉक्टर (Ahmednagar Doctor) की जान बचाई। इन आरोपियों में एक तड़ीपार बदमाश भी शामिल है और उसने ही इस पूरे प्लान को अंजाम दिया था। हालांकि पिंपरी-चिंचवड पुलिस ने उससे पहले ही सभी आरोपियों को पकड़कर सलाखों के पीछे डाल दिया। जिले के पालकमंत्री चंद्रकांत पाटिल ने इस उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए पिंपरी-चिंचवड पुलिस की अपराध शाखा सहित स्थानीय पुलिस की विशेष रूप से प्रशंसा की।

    पुनीत कुमार विवेक शेट्टी (29), आफताब मेहबुब शेख (21), रुपेश राजेश गायकवाड (21), शुभम लक्ष्मण दाते (19), सचिन बबन जायभाये (24), साहिल हरिदास शिंदे (20) ऐसे गिरफ्तार किये गए आरोपियों के नाम हैं। इस मामले में पुलिस नाईक समीर घाडगे ने शिरगांव परंदवडी पुलिस थाने में तहरीर दी है।

    धुले और अहमदनगर पुलिस से संपर्क किया

    तड़ीपार बदमाश पुनीत शेट्टी ने अपने साथियों के साथ मिलकर बड़ी साजिश रची। इसके लिए उन्हें कारतूस की जरूरत थी। शिरगांव थाने के पुलिस नाइक समीर घाडगे को सूचना मिली कि आरोपी साहिल शिंदे कारतूस लेने के लिए गहुंजे आएगा। इसके बाद शिरगांव पुलिस ने जाल बिछाया। हालांकि इसकी भनक लगने के चलते आरोपी नहीं आया। इसके बाद एंटी गुंडा स्क्वाड ने तकनीकी जांच शुरू की। इसमें पता चला कि आरोपित साहिल औरंगाबाद हाईवे से अहमदनगर की ओर जा रहा है। साथ ही यह भी पता चला कि पुनीत शेट्टी, आरोपी जगन सेनानी से पिस्टल लेने धुले जिले में जा रहा है। तदनुसार, पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस ने धुले और अहमदनगर पुलिस से संपर्क किया और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

    आरोपी ने अस्पताल परिसर में रेकी भी की

    शुरुआत की पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। हालांकि, जैसे ही पुलिस ने थोड़ी सख्ती बरती, तब पुनीत शेट्टी ने बताया कि उन्होंने एक लूटपाट की साजिश रची है। अहमदनगर के पोल अस्पताल में डॉक्टर हैं। बड़ी संख्या में शहर के बाहर से लोग उनके पास इलाज के लिए आते हैं। उसके पास बहुत पैसा है। आरोपी सचिन जयभाई ने अन्य आरोपियों से कहा कि अगर हम उसे लूटेंगे तो हमें काफी पैसा मिल जाएगा। इसी के अनुसार आरोपी ने अस्पताल परिसर में रेकी भी की। हालांकि, पिंपरी-चिंचवड पुलिस ने उनके मनसूबे को नाकाम कर दिया।  पिंपरी-चिंचवड पुलिस कमिश्नर अंकुश शिंदे, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त डॉ. संजय शिंदे, उपायुक्त काकासाहेब डोले, सहायक आयुक्त प्रशांत अमृतकर के मार्गदर्शन में शिरगांव पुलिस और क्राइम ब्रांच के एंटी गुंडा स्क्वाड ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।