Raksha Khadse VS rohini Khadse in Raver

Loading

रावेर: महाराष्ट्र के बारामती ही नहीं बल्कि रावेर (Raver) लोकसभा सीट पर भी चुनावी मुकाबला (Lok Sabha Election 2024) दिलचस्प होने वाला है। बारामती की ही तरह रावेर से भी ननद भाभी के बीच मुकाबला होने की संभावना जताई जा रही है। रावेर सीट के लिए राकां (शरद पवार) की तरफ से एकनाथ खड़से का नाम लिया जा रहा था, लेकिन उन्होंने बिमारी के चलते लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया है। अब राकां (शरद पवार) की तरफ से रोहिणी खड़से (Rohini Khadse) का नाम लिया जा रहा है। बीजेपी पहले ही रक्षा खड़से (Raksha Khadse) के तौर पर अपने उमीदवार के नाम का एलान कर चुकी है। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि रावेर सीट से भी ननद भाभी के बीच मुकबला देखने को मिल सकता है। 
 
मविआ का सस्पेंस बरकरार
भारतीय जनता पार्टी द्वारा जलगांव और रावेर दोनों निर्वाचन क्षेत्रों के लिए भाजपा द्वारा उम्मीदवारों की घोषणा किए जाने के 4 दिन बीत जाने के बाद भी, महाविकास अघाड़ी ने अभी तक उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है। इससे ऐसा लग रहा है कि सीटों पर सस्पेंस अभी भी बरकरार है। इस बार के लोकसभा चुनाव में जिले की 2 सीटों के लिए भारतीय जनता पार्टी की ओर से क्रमश: रक्षा खडसे और स्मिता वाघ के नाम की घोषणा की गई है। पहले रावेर सीट कांग्रेस के पास थी। 

ननद भाभी में होगा मुकाबला
इस बार साफ संकेत हैं कि यह सीट राकांपा-शरद चंद्र पवार की पार्टी को मिलेगी। ऐसा देखा जा रहा है कि जलगांव लोकसभा सीट जो कि राकांपा की है, उस पर शिवसेना-उबाठा लड़ेगी। महाविकास अघाड़ी ने दोनों निर्वाचन क्षेत्रों में मजबूत उम्मीदवारों को मैदान में उतारने की रणनीति बनाई है। चर्चा चल रही थी कि शरद पवार गुट की ओर से सबसे पहले एकनाथ खडसे रावेर से चुनाव लड़ेंगे, लेकिन बाद में चिकित्सकीय कारणों से उन्होंने नाम वापस ले लिया। इससे रोहिणी खडसे का नाम सामने आया। उन्होंने यह भी कहा कि वह विधानसभा लड़ेंगे. इसके चलते रविंद्र भैया पाटिल, पूर्व विधायक संतोष चौधरी, यावल के पूर्व मेयर अतुल पाटिल आदि के नाम टिकट की दौड़ में हैं। 

 

तीन में से एक को मिलेगी टिकट 
दूसरी ओर, जलगांव लोकसभा क्षेत्र में शिवसेना और हाल ही में पार्टी में शामिल हुईं अमलनेर की ललिता ताई पाटिल, जलगांव के पूर्व उपमहापौर कुलभूषण पाटिल और पार्टी के जिला प्रमुख डॉ. हर्षल माने के बीच मुकाबला होगा। इन तीन में से एक को टिकट मिलने की संभावना है। महाविकास अघाड़ी की ओर से 2 दिनों में उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जाएगी और उसके बाद ही असली तस्वीर साफ होगी।