Shiv Sena leader Sanjay Raut supported Sharad Pawar's statement, attacking BJP verbally and said - they will have to pay
शिवसेना सांसद संजय राउत (Photo Credits-ANI Twitter)

    मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Former Home Minister Anil Deshmukh) की गिरफ्तारी (Arrest) के बाद से महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल है। एनसीपी चीफ शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) को इसकी भारी कीमत चुकाने तक की चेतावनी दी है। तो वहीं शिवसेना (Shivsena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने भी बीजेपी पर जुबानी हमला बोलते हुए पवार के बयान का समर्थन किया है। 

    एएनआई के अनुसार, संजय राउत ने कहा है कि, हमारे लोगों को या तो झूठे आरोपों और झूठे सबूतों के आधार पर जेल भेज दिया जाता है या उन्हें केंद्रीय एजेंसियों द्वारा प्रताड़ित किया जाता है। हम उनमें से एक थे लेकिन हमने कहा था कि हम डरेंगे नहीं। इस सब के लिए उन्हें भुगतान करना होगा। पवार साहब ने जो कहा, मैं उसका समर्थन करता हूं। 

    एएनआई के मुताबिक, बुधवार को शरद पवार ने कहा कि, महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर झूठे आरोपों के बाद अब पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर फरार हैं। वे खुद ही उन आरोपों को साबित करने के लिए सामने नहीं आ रहे हैं। बीजेपी ने अनिल देशमुख को जेल में डाल दिया है। ऐसे में अब बीजेपी ने जो कुछ भी किया है, उसकी उनको कीमत चुकानी होगी। बताया जा रहा है कि, पवार ने यह बयान नागपुर में एनसीपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिया। 

    बता दें कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री देशमुख को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक केस में पिछले दिनों गिरफ्तार कर लिया था। कई दिनों तक ईडी हिरासत में रहने के बाद उन्हें कोर्ट में न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली के गंभीर आरोप लगाए थे। हालांकि इस मामले में सिंह ने लेटर लिख कर जांच की मांग की थी। दूसरी ओर परमबीर सिंह पर मुंबई और आसपास के इलाकों के कई पुलिस स्टेशनों में एक्सटॉर्शन के मामले दर्ज हैं। परमबीर सिंह को बार-बार तलब करने के बावजूद वे अब तक सामने नहीं हैं।