Mahavitaran

    ठाणे.  महावितरण (Mahavitaran) ने बिलों (‍Bills) की अदायगी न करने वाले बिजली ग्राहकों (Electricity Customers) की बिजली आपूर्ति खंडित करने की जोरदार मुहिम शुरू किए जाने से खलबली मच गई है। समय पर बिल न जमा होने के चलते भांडुप (Bhandup) परिमंडल को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।  सभी विभागों को मिलाकर महावितरण की बकाया रकम 480 करोड़ पहुंच गया है।  इस स्थिति से निपटने के लिए  महावितरण के अधिकारी और कर्मचारी  बिल न भरने वाले ग्राहकों की बिजली आपूर्ति खंडित करने की मुहिम में जुटे हुए हैं। इन बातों की जानकारी देते हुए महावितरण  भांडुप परिमंडल के मुख्य अभियंता सुरेश गणेशकर ने कहा है कि एक लाख से अधिक बिजली उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे गए हैं।

    एशिया की सबसे बड़ी बिजली वितरण कंपनी महावितरण है, जिसका मुख्य लक्ष्य अपने ग्राहकों को बेहतर सेवा प्रदान करना है,  लेकिन कोरोना महामारी की अचानक शुरुआत ने दुनिया की आर्थिक तस्वीर को बदल कर रख दिया है।  इसका असर महावितरण पर भी पड़ा है। काफी ग्राहकों ने अपने कोरोनाकाल के बिजली बिलों का भुगतान कर दिया है, लेकिन बकाएदारों की संख्या भी अच्छी खासी है। बार-बार अनुरोध करने पर भी कुछ  ग्राहक अपने बिजली बिलों की अदायगी पर ध्यान नहीं देते हैं। जिससे महावितरण की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है और प्रधान कार्यालय ने सभी मंडल कार्यालयों को बिजली बिलों की वसूली के लिये कठोर कदम उठाए जाने के निर्देश जारी किए हैं। इस कार्रवाई के तहत भांडुप परिमंडल के एक लाख 116 ग्राहकों का बिल बकाया होने के कारण बिजली आपूर्ति बंद कर दी है।

    ग्राहकों से बिजली बिल भरने की अपील

    मुख्य अभियंता  सुरेश गणेशकर ने ग्राहकों  से बिजली बिल भरने की अपील की है। भांडुप  परिमंडल में उच्च दाब उपभोक्ताओं पर  40.61 करोड़ रुपये, निम्न दाब उपभोक्ताओं के घरेलू, व्यवसायिक और औद्योगिक उपभोक्ताओं पर  235.7 करोड़ रुपये, जन जलापूर्ति योजनाओं पर  5.76 करोड़ रुपये, अन्य ग्राहकों पर 8.85 करोड़ रुपये बकाया है।  स्ट्रीट लाइट का बकाया 185.08 करोड़ रुपए है।  उच्च दाब एवं निम्न दाब उपभोक्ताओं  पर 480.64 करोड़ का बिल बकाया है। 

    महावितरण  की वित्तीय स्थिति गंभीर

    महावितरण  की वित्तीय स्थिति गंभीर है और प्रधान कार्यालय ने सभी सर्किलों को बिजली बिल का बकाया वसूलने का निर्देश दिया है। इतनी बड़ी रकम बाकी होने से  महावितरण को बिजली खरीद, ट्रांसमिशन, बैंक ऋण पर ब्याज के साथ-साथ कर्मचारियों के वेतन के भुगतान में दिक्कत हो रही है।

    ठाणे मंडल में  28,225 ग्राहकों की  बिजली आपूर्ति काटी गई 

    भांडुप  परिमंडल के ठाणे मंडल में 18.11 करोड़ रुपये के बकाया रखने वाले 28,225 ग्राहकों की  बिजली आपूर्ति काट दी गई है। तथा पेण मंडल में 133.74 करोड़ रुपये और वाशी मंडल में 49.11 करोड़ रुपये के बकाया के कारण 32 हजार ग्राहकों की बिजली की आपूर्ति खंडित की गई है। मुख्य अभियंता  सुरेश गणेशकर ने कहा कि जैसे हम टीवी, मोबाइल रिचार्ज और अन्य सुविधाओं के लिए भुगतान करते हैं, वैसे ही हमें उपयोग की जाने वाली बिजली के लिए भुगतान करने की जरूरत है।

    मोबाइल एप से भी कर सकते हैं भुगतान

    बिजली चोरी  करते पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। महावितरण ग्राहकों की सुविधा के लिए, सभी आधिकारिक बिजली बिल भुगतान केंद्र अभी भी छुट्टियों में  भी खुले हैं। कोरोना की व्यापकता को देखते हुए ग्राहक www.mahadiscom.in या महावितरण  के मोबाइल एप के माध्यम से भी घर बैठे अपने बिजली बिल का भुगतान डिजिटल माध्यम से कर सकते हैं।