Adivasi Pada.

    कल्याण. आजादी के 74 साल बाद भी कल्याण ग्रामीण क्षेत्रों (Kalyan Rural Areas) में  आदिवासी पाड़ा (Adivasi Pada)आज भी मूलभूत सुविधाओं (Basic Amenities) से वंचित हैं।  समीक्षा समिति के अध्यक्ष विवेक पंडित (Vivek Pandit) ने कल्याण तालुका में खडवाली, जिभोनी, कटकरीपाड़ा, वावहोली, सागवाड़ी, मणिवली कातकरीपाड़ा, नेटिवली कातकरीपाड़ा का दौरा किया और आदिवासी कातकरी परिवारों की नागरिक सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।

     अपने विचार व्यक्त करते हुए विवेक पंडित ने कहा कि इस समय देश की आजादी के 74 साल बाद भी सच्ची आजादी की किरणें गरीबों की झुग्गियों तक नहीं पहुंची हैं।  कई आदिवासी परिवारों के पास न घर है, न पीने का साफ पानी, न आधार कार्ड, न राशन कार्ड। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में सरकार द्वारा तय की गई योजनाओं को लागू करने के निर्देश दिए। 

     एकीकृत आदिवासी परियोजना शाहपुर परियोजना अधिकारी आरएच किल्लेदार, तहसीलदार दीपक अकाडे, समूह विकास अधिकारी श्वेता पल्वे, महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी चौधरी, खडावली, नंदगांव, वावहोली साजा तलाठी मंडल अधिकारी संलुखे, संबंधित ग्राम पंचायत के ग्रामसेवक, केडीएमसी वार्ड केशन अधिकारी और यात्रा के दौरान  जिलाध्यक्ष अशोक सप्ते, जिला महासचिव राजेश चन्ने, दशरथ भालके, तालुका अध्यक्ष विष्णु वाघे, उपाध्यक्ष ज्योति फासले, संभाग सचिव लक्ष्मण वाघे उपस्थित थे।