Dabki Road's water supply Khandit-JCB uprooted water pipeline

    अंबरनाथ : तेजी से फैलते शहर अंबरनाथ (Ambernath) के पालेगांव (Palegaon) परिसर में पानी की टंकियों (Tanks) के निर्माण के बावजूद पाइप लाइन (Pipelines) बिछाने और एमआईडीसी महकमे (MIDC Department) द्वारा कनेक्शन देने में उदासीनता के कारण पिछले कुछ वर्षों में करीब पांच से छह हजार लोगों को पानी के लिए टैंकरों (Tankers) और बोरवेलों (Borewells) पर निर्भर रहना पड़ा है। अंतत: इस क्षेत्र के लिए 20 लाख लीटर पानी उपलब्ध कराया गया है, जिसके लिए तीन इंच व्यास का कनेक्शन (Connections) भी दिया गया है। इसलिए पालेगांव की पानी की समस्या आखिरकार हल हो गई है। यहां जांच (Testing) और आवश्यक मरम्मत (Necessary Repairs) के बाद जल्द ही जलापूर्ति (Water Supply) शुरू की जाएगी।        

    पिछले कुछ वर्षों में अंबरनाथ शहर की आबादी में जबरदस्त वृद्धि हुई है और चिखलोली और पाले जैसे नए क्षेत्रों का निर्माण हुआ है। हालांकि, शहर के इस विस्तारित क्षेत्र में सड़क और पानी जैसे बुनियादी सुविधाओं के निर्माण में देरी हुई। कुछ महीने पहले यहां सड़क का काम शुरू हुआ है। लेकिन पाले क्षेत्र में अभी तक महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण की जलापूर्ति शुरू नहीं हुई थी। यहां के बिल्डरों ने पानी की टंकी बनाने के लिए प्राधिकरण को जमीन की पेशकश की थी। चार साल पहले अमृत योजना के तहत पानी की टंकीया भी बनाई गई। लेकिन स्थानीय लोगों के विरोध के कारण टंकी तक पानी के पाइप डालने में मुश्किलें आईं। नतीजा यह रहा कि यहां रहने आए करीब 5 से 6 हजार लोगों को टैंकरों और बोरवेल के पानी पर निर्भर रहना पड़ रहा था। भवन निर्माण व्यवसाय से जुड़े लोगों पर  इसका बिल्डरों पर बुरा असर पड़ रहा था। 

    स्थानीय लोगों के विरोध के कारण रुके हुए पाइप लाइन के काम का मामला अदालत में गया। काम ठप होने पर प्राधिकरण ने आखिरकार पाइप लाइन का रास्ता बदल दिया। इसके लिए पुरानी लाइन को हटाने की बड़ी चुनौती प्राधिकरण के लिए थी। मार्ग बदलने और जलमार्ग बिछाने का काम दिसंबर 2021 में शुरू किया गया। हालांकि पाइप लाइन बिछा दिए गए है, लेकिन महाराष्ट्र औद्योगिक विकास महा मंडल से अभी तक कनेक्शन नहीं मिला है। इसके लिए प्राधिकरण ने एमआईडीसी को 97 लाख रुपए का बकाया भुगतान किया। स्थानीय विधायक डॉ. बालाजी किणीकर के प्रयासों से हाल ही में बारवी बांध की  पाइप लाइन से तीन इंच की लाइन जोड़ी गई है। इससे पाले क्षेत्र में पानी की आपूर्ति का मार्ग साफ हो गया है। 

    एमआईडीसी की लाइन से पाले के लिए नया कनेक्शन हो चुका है, टेस्टिंग के लिए कम से कम एक सप्ताह लगेगा। चेकिंग के बाद जहां आवश्यक होगा मरम्मत की जाएगी, अगले 15 दिनों में क्षेत्र के लोगों को नई लाइन से जलापूर्ती शुरू हो जाएगी। – मिलिंद बसनगार (कार्यकारी अभियंता, महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण, अंबरनाथ)