Congress jumps into the politics of vaccination of Shiv Sena and NCP

    ठाणे: ठाणे (Thane) में शिवसेना (Shiv Sena) और एनसीपी (NCP) के बीच टीकाकरण (Vaccination) की राजनीति (Politics) में अब कांग्रेस (Congress) कूद गई है। ठाणे कांग्रेस (Thane Congress) ने बुधवार को महानगरपालिका मुख्यालय (Municipal Headquarters) के बाहर धरना देकर टीकाकरण की राजनीति को खत्म करने और आम जनता को टीका उपलब्ध कराने की मांग की।

    शहर में पिछले कुछ दिनों से टीकाकरण की राजनीति गरमाई हुई है। शिवसेना ने जहां कलवा में टीकाकरण अभियान चलाकर एनसीपी के गढ़ में एक प्रकार से सेंध लगाने में जुट हुई है। वहीं राज्य में शिवसेना के साथ सत्तासुख भोग रही एनसीपी ने भी शिवसेना को सबक सिखाने के लिए सीधे पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के कोपरी पांच पाखाडी निर्वाचन क्षेत्र में भी महापौर से टीकाकरण की अनुमति मांगी है। इस प्रकरण को लेकर दोनों दलों के बीच टीकाकरण की राजनीतिक संघर्ष शुरू होगई है। इन सबके बाद अब कांग्रेस भी कूद पड़ी है और बुधवार को आंदोलन किया।

    बड़ी संख्या में ठाणे कांग्रेस पदाधिकारी मौजूद रहे

    इस मौके पर बड़ी संख्या में ठाणे कांग्रेस पदाधिकारी मौजूद रहे। ठाणे कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत चव्हाण ने एनसीपी द्वारा महापौर के केबिन में किए गए आंदोलन को भी गलत करार दिया और कहा कि टीका आम जनता का है, इसलिए इसे उन्हें उपलब्ध कराया जाना चाहिए। वहीं कांग्रेसियों ने नारा लगाते हुए कहा कि टीका है ठाणे करों की, न कि किसी के बाप की। साथ ही कांग्रेस ने कहा कि टीकाकरण अभियान एक उद्देश्य के तहत चलाया जा रहा है जोकि गलत है। साथ ही कांग्रेस ने कहा कि वैक्सीन जनता के पैसे से आ रही है इसलिए खुद का विज्ञापन करना और बैनर लगाना अनुचित है। कांग्रेस ने टीकाकरण की राजनीति को छोड़ कर सभी लोगों को समान अनुपात में उपलब्ध कराने की मांग की।

    कई पदाधिकारी थे मौजूद 

    इस आंदोलन में कांग्रेस ठाणे शहर के अध्यक्ष विक्रांत चव्हाण, शहर कांग्रेस महासचिव सचिन शिंदे, प्रदेश सदस्य सुखदेव घोलप, शहर उपाध्यक्ष गजेंद्र सिंह तोमर, शैलेश शिंदे, महेंद्र म्हात्रे, भालचंद्र महाडिक रमेश इंदिसे, युवक अध्यक्ष आशिष गिरी, रुशिकेश तायडे, नाना कदम, राहुल पिंगले, प्रसाद पाटिल, हिन्दुराव गलवे, पप्पू सिंह, शितल आहेर, एडवोकेट दरम्यान सिंह, दयानंद ऐगडे, जावेद शेख, मिनाक्षी थोरात, रिना गजरा, हेमांगी चोरगे, स्वप्नील कोली,निलेश अहिरे, डॉ. जयेश परमार, गिरीश कोली, संजय दंडाले, संजय घाग, संतोष जोशी, गोपाल सांवत, जानबा पाटिल, अरूण राजगुर, मनोज पांडे आदि पदाधिकारी उपस्थित थे। सचिन शिंदे और अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे।