THANE CENTRAL JAIL

    ठाणे : ठाणे सेंट्रल जेल (Thane Central Jail) में जारी भ्रष्टाचार (Corruption) को लेकर एक सप्ताह पहले एक वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल करने वाला लापता कांस्टेबल अशोक पल्लेवाड़ ( Constable Ashok Pallevad) पिछले चार दिन बाद घर वापस आ गया है। अशोक के लापता होने के चर्चा जोरों पर थी। जिसमें जेल अधीक्षक हर्षद अहीरराव पर आरोप लगा था, और उसके गायब होने के पीछे वही कारण हो सकता है। ठाणे नगर पुलिस (Thane Nagar Police) की महिला पीआई विद्या पाटिल ने पल्लेवाड़ के वापस लौटने की पुष्टि की है।  

    कल्याण पूर्व के तीस गांव में रहने वाला जेल में बतौर सुरक्षा रक्षक कार्यरत पल्लेवाड़ शनिवार को ड्यूटी के लिए निकला था लेकिन वह घर वापस नहीं लौटा था। उसी दिन से उसका मोबाइल बंद था। पत्नी ममता ने 22 मई को ठाणे नगर पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की थी। ठाणे नगर पुलिस उसकी तलाश में लगी थी। 

    पत्नी को फोन कर मनमाड में होने की बात बताई

    पुलिस को दिए बयान में पल्लेवाड़ ने बताया है कि उसकी वरिष्ठ अधिकारीयों से नहीं जमती है। जिसके चलते वह मानसिक रूप से परेशान था और वह गुस्से में मनमाड चले गया था। मंगलवार को उसने पत्नी को फोन कर मनमाड में होने की बात बताई थी और उसके बाद वह वापस लौटा। जेल अधीक्षक अहीरराव ने बताया कि पल्लेवाड़ की अपराधिक प्रवृति के लोगो के साथ साठगांठ होने की बात सामने आयी है। इसको लेकर उसके खिलाफ वरिष्ठ अधिकारीयों के पास शिकायत है। जेल में पल्लेवाड़ सहित कुछ कर्मचारियों का ग्रुप है जो की अपराधियों के संपर्क में रहता है। खुद के खिलाफ कार्रवाई न हो और लोगों की सहानभूति उसे मिले इसलिए उसने गायब होने का नाटक किया। पल्लेवाड़ पर तलोजा जेल में एक अधिकारी के साथ मारपीट और गाली गलौज करने का भी आरोप है।