Coronavirus
File Photo

    उल्हासनगर : कोरोना (Corona) की तीसरी लहर (Third Wave) का असर अब उल्हासनगर, अंबरनाथ और बदलापुर (Ulhasnagar, Ambernath,  and Badlapur) में दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। उक्त शहरों में रविवार को 700 पॉजिटिव मरीज मिले और इनमें अंबरनाथ में कोरोना के चलते 2 की मौत हो गई। 

    रविवार को बदलापुर 187, अंबरनाथ में 251 और उल्हासनगर में कोरोना पॉजिटिव के 262 मरीज पाए गए है। रविवार की देर रात से कोरोना को लेकर नई नियामवली लागू हो चुकी है। अब होटल रात 10 बजे बंद होंगे और रात 11 से सुबह 6 बजे के बीच नाईट कर्फ्यू लग चुका है। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या को गंभीरता से लेते हुए उल्हासनगर महानगरपालिका ने रविवार से महारल में कोविड अस्पताल शुरू कर दिया है।

    महानगरपालिका के वरिष्ठ नगरसेवक और शिवसेना शहर प्रमुख राजेंद्र चौधरी ने बताया कि हाल ही में उक्त अस्पताल का जायजा क्षेत्रीय सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे ने प्रत्यक्ष रूप से लिया था और फिलहाल यहां कोविड अस्पताल बनाने की सलाह दी जिसके कारण महानगरपालिका क्षेत्र में जो भी पॉजिटिव मिले उसका इलाज यहां हो सके।  

    इसी तरह अंबरनाथ नगर परिषद ने भी टेंडर प्रक्रिया के माध्यम से एजेंसी नियुक्त की है। ठाणे की एजेंसी अब स्थानीय नगर परिषद के डेंटल कॉलेज में कोविड अस्पताल चलाएगी,  अब तक उक्त कोविड अस्पताल अंबरनाथ नपा चला रहीं है। वही कुलगांव बदलापुर नगर परिषद ने गौरी हॉल में कोविड अस्पताल शुरु कर दिया है। सोमवार को अंरनाथ नगर पालिका के मुख्याधिकारी डॉ प्रशांत रसाल ने कोरोना की रोकथाम को लेकर अपने मातहत स्टाफ के साथ बैठक की।