Representative Pic
Representative Pic

    ठाणे : जहां पिछले कुछ दिनों से ठाणे महानगरपालिका (Thane Municipal Corporation) क्षेत्र में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या में इजाफा हो रहा है, वहीं अब कोरोना (Corona) ने एक बार फिर छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल (Chhatrapati Shivaji Maharaj Hospital) के साथ-साथ महानगरपालिका (Municipal Corporation) के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (Primary Health Center) अर्थात सामुदयिक स्वास्थ्य में घुस गया है। 

    ऐसे में कुल 84 लोग अब तक पॉजिटिव पाए गए है। स्नातक के 9 छात्र, 6 नर्सेस, 8 रेजिडेंट डॉक्टर, विभिन्न विभागों के 9 तकनीशियन, एक प्रोफेसर और 5 अन्य समेत 38 लोग का समावेश है। जोकि कोरोना से संक्रमित पाए गए है।   

    डॉक्टर और कर्मचारी बड़ी संख्या में कोरोना से संक्रमित हो रहे है

    ठाणे महानगरपालिका क्षेत्र में दिन प्रतिदिन कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। यहां पर औसतन डेढ़ हजार से भी अधिक मरीज प्रतिदिन मिल रहे है।  वहीं  अब खुलासा हुआ है कि महानगरपालिका  प्रशासन द्वारा संचालित कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी एक बार फिर बड़ी संख्या में कोरोना से संक्रमित हो रहे है।  

    स्नातक के 9 छात्र कोरोना की चपेट में आ चुके हैं

    गौरतलब है कि दूसरी लहर ने कई डॉक्टरों, नर्सों और अन्य कर्मचारियों को भी प्रभावित किया। उसके बाद तीसरी लहर की शुरुआत में ही कोरोना ने अस्पताल को चपेट में ले लिया है। यहां जो भविष्य में डॉक्टर बनना चाहता है ऐसे मेडिकल छात्र भी कोरोना संक्रमित हो रहे है। इस अस्पताल में स्थित राजीव गांधी वैद्यकीय विद्यालय में वर्तमान में करीब 300 छात्र पढ़ रहे हैं। इनमें से स्नातक के 9 छात्र कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 5 लड़के और 4 लड़कियां शामिल हैं।  अस्पताल प्रशासन ने यह भी जानकारी दी है कि रेजिडेंट डॉक्टर के रूप में कार्यरत 8 डॉक्टरों को भी कोरोना हो गया है। साथ ही पांच अन्य लोग भी संक्रमित पाए गए है। 

    पैरामेडिकल टेक्नीशियन भी कोरोना की चपेट में

    इसके अलावा यहां के विभिन्न विभागों के पैरामेडिकल टेक्नीशियन भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं और इनमें से 9 कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।  एक बाल रोग विशेषज्ञ (प्रोफेसर) भी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से जिनमें लक्षण दिखाई दे रहे है ऐसे लोगों को महानगर पालिका के पार्किंग प्लाजा अस्पताल में रखा जा रहा है, जबकि बिना लक्षण वाले लोगों को भायंदर पाड़ा स्थित पृथक केंद्र (क्वारंटाइन सेंटर) में रखा जा रहा है। 

    महानगरपालिका  के स्वास्थ्य केंद्र के 46 लोग हुए संक्रमित 

    इसी तरह ठाणे महानगरपालिका की सीमा में आने वाले नौ प्रभाग समिति क्षेत्र के अंतर्गत आने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के कुल 46 लोगों वैश्विक कोरोना महामारी के चपेट में आए है।  जिसमें 10 मेडिकल ऑफिसर, 14 नर्सेस, एक फार्मासिस्ट, एक लैब टेक्नीशियन, 20 वार्ड बॉय और आया का समावेश है।  

    इस प्रकार महानगर पालिका के स्वास्थ्य अधिकारियों समेत अन्य कर्मचारी भी कोरोना से लड़ने के लिए कमर कस रहे हैं। वहीं महानगरपालिका के कर्मचारी धुंए के छिड़काव और दवा छिड़काव के जरिए काम करते नजर आ रहे हैं तो कुछ अधिकारी और कर्मचारी वॉर रूम में हैं, लेकिन रात-दिन काम करने वाले इन अधिकारियों और कर्मचारियों को भी चपेट लेने से प्रशासन भी सकते में आ गया है।  इसमें अब तक कमिश्नर डॉ. विपिन शर्मा, उपायुक्त और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी सामने आई है।  महानगरपालिका प्रशासन के अनुसार इन लोगों को महानगरपालिका पार्किंग प्लाजा और कुछ को भायंदर के क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है।इन सभी का स्वास्थ्य ठीक बताया जा रहा है।