court

    कल्याण. कल्याण तालुका विधिक सेवा समिति द्वारा  कल्याण कोर्ट (Kalyan Court) में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत  का आयोजन किया गया।  इस राष्ट्रीय लोक अदालत  में कुल 7624 दीवानी और फौजदारी मामले, पारिवारिक विवाद, चेक से जुड़े आपराधिक मामले, पीठ की वसूली के मामले, मोटर दुर्घटना मुआवजे के मामले, बिजली से जुड़े मामले और मुकदमे से पहले के मामले निपटारे के लिए रखे गए थे। 

    इनमें से कुल 1951 दीवानी और फौजदारी मामलों का निपटारा किया जा चुका है और कुल रुपए  संबंधित को मुआवजे, बिजली बिल की वसूली, बैंक ऋणों की वसूली आदि के रूप में 6,21,81,013  रुपए की राशि का भुगतान किया गया है।

    बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारी शामिल हुए

    कल्याण कोर्ट में शनिवार को संपन लोक अदालत में बड़ी संख्या में वादी-प्रतिवादी पार्टियां, अधिकारी, बीमा कंपनियों के अधिकारी, परिवहन शाखाओं के अधिकारी और बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारी शामिल हुए।  बिजली बिल से जुड़े एक आपराधिक मामले में 4,600 रुपये का भुगतान करना आवश्यक था।  लेकिन मामले में महिला गरीब थी और उसके पास केवल 3,500 रुपए थे। 

    शेष राशि का भुगतान जिला न्यायाधीश राजीव पांडेय, शिवाजी कचरे, विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण अभियंता डीआर पाटिल और दिलीप भोले और अधिवक्ता महेश बोरुडे ने किया। इस लोक अदालत को सफल बनाने के लिए जिला न्यायाधीश-1 एवं कल्याण तालुका विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष राजीव पी. पांडे ने लोक अदालत में भाग लेने वाले सभी पक्षों, बिजली वितरण, बीमा, बैक ट्रांसपोर्ट शाखा के अधिकारियों, न्यायिक अधिकारियों, न्यायविदों और अदालत के कर्मचारियों को धन्यवाद दिया।