Dombivali loot Reciting mantra

Loading

कल्याण: डोंबिवली (Dombivali) के एक सत्तर वर्षीय बुजुर्ग को लुटेरों ने नए अंदाज़ में लूटा है। चौकाने वाली इस घटना में लुटेरों ने पीड़ित को मंत्र पढ़ाया (reciting mantra) आंख बंद करने को कहा और बुजुर्ग का कीमती समान लेकर फरार हो गए। जब बुजुर्ग ने आंख खोली तो आरोपी भाग चुके थे। जानकारी के मुताबिक लुटेरे बुजुर्ग की सोने की चैन और अंगूठी ले कर फरार हुए हैं। काफी खोजबीन के बाद भी जब दोनों का पता नही चला तो डोंबिवली पुलिस में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया।

डोंबिवली पूर्व के खंबालपाडा में मंजूनाथ स्कूल के नजदीक रहने वाले सत्तर वर्षीय प्रमोद कृष्णराव जाधव ने अपनी शिकायत में बताया कि शनिवार को घर का कुछ सामान लेने के लिए वह डोंबिवली के चार रास्ता गए हुए थे। रास्ते में दो व्यक्तियों ने उन्हें रोका और किसी मंदिर का पता पूछने लगे जिसके बारे में जानकारी न होने के कारण प्रमोद ने उन्हें कहा कि उन्हें पता मालूम नहीं है। फिर उनमें से एक नए प्रमोद को पूछा की कुछ समस्या है क्या? इसके बाद बातचीत का सिलसिला आगे बढ़ा और उस में से एक ने प्रमोद का हाथ अपने हाथों में लेकर कुछ मंत्र बुदबुदाया।

इस बाद उनसे कहा कि वह अपनी सोने की चैन व अंगूठी उन्हें दे दें और कुछ मंत्र वह खुद बोलें। इस पर प्रमोद ने अपनी चैन व अंगूठी उन्हें दे दी। इसके बाद पीछे घूमकर मंत्र पढ़ने को बोला और दोनों गायब हो गए। काफी देर तक प्रमोद ने दोनों का इंतजार किया जब वह वापस नहीं आए तो उन्हें ठगी का एहसास हुआ और उन्होंने डोंबिवली पुलिस स्टेशन में दोनों अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया।