Mumbai Police arrested a vicious thief, has done 215 thefts so far including the house of underworld don Chhota Rajan's sister
प्रतीकात्मक तस्वीर

    ठाणे. विशेष जांच टीम (Special Investigation Team) (एसआईटी) ने डोंबिवली (Dombivli) नाबालिग सामूहिक दुष्कर्म मामले सभी 33 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि करते हुए सोमवार को दो और आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद मामले में आरोपी सभी लोगों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है। 

    गौरतलब है कि मामले में पकड़े गए आरोपियों में दो नाबालिग भी हैं जिन्हें भिवंडी बालसुधार गृह में रखा गया है जबकि बाकी 31 आरोपी पुलिस हिरासत में है। इस मामले में उस व्हाट्सएप ग्रुप से पुलिस जानकारी इकठ्ठा करने की कोशिश कर रही है जिसके जरिए पीड़िता के साथ दुष्कर्म का वीडियो मुख्य आरोपी ने दूसरों के पास भेजा था। 15 साल की पीड़िता भी इस व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल थी।

    पुलिस द्वारा छानबीन में खुलासा हुआ है कि लड़की के दोस्त ने सबसे पहले इसी साल जनवरी महीने में उसके साथ दुष्कर्म किया था इस दौरान उसने वीडियो बना लिया। आरोपी लड़की को वीडियो के सहारे बार-बार ब्लैकमेल कर रहा था और दुष्कर्म के लिए अलग-अलग जगहों पर बुला रहा था। पीड़िता ने एक बार उसके पास जाने से इंकार किया तो आरोपी ने पीड़ित से दुष्कर्म का वीडियो व्हाट्सएप ग्रुप में डाल दिया। लड़की इससे डर गई और उसे लगा कि आरोपी दूसरे ग्रुप में भी उसका वीडियो साझा कर देगा और फिर वह उसके बुलाने पर जाने लगी। लेकिन ग्रुप के दूसरे आरोपियों ने भी वीडियो मिलने के बाद लड़की को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और आठ महीने तक उस अलग-अलग जगहों पर ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म करते रहे। लड़की के लिए बार-बार घर वालों को यह समझा पाना मुश्किल हो रहा था कि वह आखिर इतनी-इतनी देर तक घर से बाहर क्यों रहती है। आखिरकार लड़की ने मामले की जानकारी परिवार को दी जिसके बाद डोंबिवली के मानपाडा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई गई।