मां और छोटी बहन को डूबने से बचाकर अपनी जिंदगी हार गई कल्पना

कल्याण. डोंबिवली पूर्व (Dombivali East) से एक बड़ी दर्दनाक घटना सामने आई है. यहां मां और दो बेटियों के खदान में डूबने की खबर है। आश्चर्य की बात यह है कि डूबती मां और छोटी बहन को बचाने के लिए गयी बड़ी बेटी अपनी मां और छोटी बहन को बचाने में तो सफल रहीं, लेकिन खुद की जिंदगी हार गई है.  दमकल विभाग (Fire department) के जवान युवती का शव की तलाश में जुटे हैं, लेकिन समाचार लिखे जाने तक युवती की लाश नहीं मिल सकी है। 

मिली जानकारी के अनुसार डोंबिवली पूर्व की रहने वाली गीता अपनी दो बेटियों के साथ रविवार दोपहर साढ़े 12 बजे के दरम्यान कोलेगांव, रानी ढाबा के पीछे स्थित खदान में कपड़े धोने के लिए गयी थी। गीता अपनी चार वर्षीय बेटी को पानी में डूबता देख उसे बचाने के लिए पानी में कूद पड़ी, लेकिन उसे तैरना नहीं आता था, इसलिए वह भी खदान में डूबने लगी।

दोनों को डूबता देख गीता की 16 वर्षीय बड़ी बेटी कल्पना (बदला हुआ नाम) दोनों को बचाने के लिए पानी में कूद गई,  उसने माँ और छोटी बहन को तो बचा लिया, लेकिन दुर्भाग्य से वह खुद खदान से बाहर नहीं निकल पायी। घटना की खबर सुनते ही दमकल विभाग के जवान खदान में कल्पना को ढूढने में जुट गए, लेकिन खबर लिखे जाने तक कल्पना का कोई पता नहीं चल पाया था। आगे की जांच पड़ताल डोंबिवली की मानपाड़ा पुलिस कर रही है।