Kalyan Congress protested against the 3 black laws of the central government, also protested in Ulhasnagar

    कल्याण/उल्हासनगर. केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा लगाए गए तीन काले (Black Laws) किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ आज भारत बंद का आह्वान किया गया।  कल्याण में भारत बंद के आह्वान पर कांग्रेस के अल्पसंख्यक वर्ग के जिलाध्यक्ष सलीम शेख की ओर से विरोध दर्ज कराया गया था।केंद्र की भाजपा सरकार ने किसान के लिए तीन काले कानून बनाए, जिससे किसानों को न्याय नहीं मिल सकता है।

    किसान और  मजदूर विरोधी कानून लाकर  किसान-मजदूरों  विरोधी काम  किया जा रहा है। जैसे-जैसे भारत में युवा बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे युवाओं को भी न्याय नहीं मिल रहा है। रोजाना बढ़ती महंगाई से आम जनता परेशान है।  इन सबके विरोध में कांग्रेस अल्पसंख्यक वर्ग के जिलाध्यक्ष सलीम शेख के नेतृत्व में पत्रीपुल से मार्च निकाला गया। कल्याण पश्चिम में छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तक पैदल चलकर भारी संख्या में  महिला और पुरुष कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की और केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर  शिफा महशर पावले खटखटे, जिला उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक विभाग और अन्य पदाधिकारी और कार्यकर्ता आंदोलन में शामिल हुए।

    उल्हासनगर में कांग्रेसी उतरे सड़क पर

    वहीं उल्हासनगर में किसान संगठनों और वाम मोर्चे ने सोमवार को भारत बंद का आवाहन किया था, इस अपील पर  उल्हासनगर कांग्रेस ने किसान विरोधी नीतियों का विरोध करते हुए कई मुद्दों पर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर भारत बंद को अपना समर्थन दिया।  

    कांग्रेस शहर अध्यक्ष रोहित सालवे का कहना है कि केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार इस देश के किसानों को निर्वासित करने के लिए किसान विरोधी 3 कानून लाई है। यह रेलवे,  बैंक, एयरलाइंस, सड़कों, बीमा कंपनियों, सार्वजनिक उद्यमों, दूरसंचार और बंदरगाहों जैसे सभी सार्वजनिक उद्यमों को भी एक-एक करके बेच रही है। हर साल युवाओं को 2 करोड़ रोजगार देने का वादा करने वाली भाजपा सरकार ने मौजूदा नौकरियों को भी खत्म कर दिया है। पेट्रोल, डीजल और घरेलू गैस के दाम आसमान छू रहे है।

    केंद्र सरकार की इन राष्ट्रविरोधी नीतियों का विरोध करने के लिए देश के किसान संगठनों और वाम मोर्चे ने भारत बंद का आवाहन किया है। जिसे कांग्रेस पार्टी ने अपना समर्थन जताया है। इसी के तहत उल्हासनगर कांग्रेस अध्यक्ष रोहित सालवे के नेतृत्व में व्यापारियों की मदद से नेहरू चौक पर दुकाने बंद कर अनशन किया गया। जिसमें केंद्र सरकार के विरोध में नारेबाजी की गई। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया। अनशन में शहर अध्यक्ष रोहित सालवे, ब्लॉक अध्यक्ष किशोर धड़के, उपाध्यक्ष महादेव शेलार, प्रवक्ता आसाराम टाक, दीपक सोनोने, विशाल सोनावणे, नियाज खान, अख्तर खान, अनिल सिन्हा, फरियाद शेख, रोहित ओवल, गणेश मोरे, मनोहर मनुजा, अनिल यादव, वीसी विनोदन, संतोष वानखेड़े सहित कई पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।