Jitendra Awhad, trying to revive NCP in Mira Bhayandar, took on Municipal body

    ठाणे : मुंब्रा (Mumbra) और कलवा विधानसभा क्षेत्र (Kalwa Assembly Constituency) के वोटर लिस्ट (Voter List) से जानबूझकर मुस्लिमों (Muslim) और दलितों का नाम हटाए जाने का पर्दाफाश स्थानीय विधायक (Local Legislator) और राज्य के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड (Jitendra Awhad) ने किया है।  साथ ही उन्होंने इस संदर्भ में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।  

    गौरतलब है कि ठाणे महानगर पालिका चुनाव अगले साल होने हैं। इस पृष्ठभूमि में, मतदाता सूचियों को अद्यतन किया जा रहा है। हालांकि, मुंब्रा-कलवा निर्वाचन क्षेत्र के कई मतदाताओं के नाम सूची से हटा दिए गए हैं। जोकि गलत है।  

    मंत्री आव्हाड ने कहा कि महानगरपालिका चुनाव से पहले मुंब्रा-कलवा में ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र की पूरी मतदाता सूची में भी काफी भ्रम है।  उन्होंने कहा कि मुंब्रा में 20,000 से 30,000 मतदाताओं के नाम काट दिए गए हैं।  हालांकि इसके लिए प्रशासन की आलोचना की गई है, लेकिन वर्तमान में वे मतदाता उसी स्थान पर रह रहे हैं।  इन नामों को हटाने के लिए कौन जिम्मेदार है, यह जिला कलेक्टर पर निर्भर है।  उनके नेतृत्व में यह कार्य किया जा रहा है।  इसलिए उन्होंने मांग किया है कि जिन मतदाताओं को स्थलांतरित दिखाया गया है ऐसे लोगों के नाम फिर से समाविष्ट किया जाए।  

    आव्हाड ने कहा कि यह एक प्रकार से  प्रशासनिक अधिकारी संविधान द्वारा दिए गए वोट के अधिकार को छीनने की कोशिश कर रहे हैं।  और एक उद्देश्य के तहत मुसलमानों और विशेष रूप से दलितों के नाम काटे जा रहे हैं।  जो आम व्यक्ति के अधिकार का हनन भी है।