Paddy cultivation affected by unseasonal rains, Revenue Department started Panchnama from Monday

    बदलापुर : ठाणे जिले (Thane District) के मुरबाड, शाहपुर तालुका में दिवाली (Diwali) और भाईदूज (Bhai Dooj) की पूर्व संध्या पर लगातार दो दिनों में गिरी बेमौसम बारिश (Unseasonal Rains) से किसानों (Farmers) को भारी नुकसान हुआ है। कई किसानों ने देर से धान की कटाई कर उसे खेत में रख दिया था, ऐसे किसानों का कटा धान पानी में चला गया है। इसके अलावा तिल, खुरासनी, उड़द, वरई और नाचनी की फसल को भी नुकसान पहुंचा है। इस साल यह दूसरी बार प्राकृतिक आपदा आई है, जिसने किसानों को काफी नुकसान पहुंचाया  है।

    इस साल किसी तरह प्राकृतिक आपदा से बची फसल ऐन दिवाली पर गिरी बेमौसम बारिश से भीग गई है। दीपावली पाड़वा और भाईदूज के दिन यानी शुक्रवार और शनिवार की शाम को लगातार दो दिन बारिश हुई। मौसम विभाग ने बेमौसम बारिश की भविष्यवाणी की थी, उसके बाद भी देर से काटे गए किसानों की धान की फसल इस बेमौसम बारिश की चपेट में आ गई। मुरबाड, शाहपुर और अंबरनाथ तालुका में शुक्रवार को हुई बारिश ने धान की आखिरी फसल को भिगो दिया। हालांकि अंबरनाथ तालुका में प्रभावित किसानों की संख्या कम है, लेकिन मुरबाड और शाहपुर तालुका में इसके अधिक होने की संभावना है।

    कई किसान धान की कटाई कर उसे कुछ दिनों के लिए खेत में सूखने के लिए छोड़ देते है। इस दौरान हुई बारिश में धान की पूरी फसल भीग गई। जिससे किसानों के हाथ आई फसल बर्बाद हो गई है। इसलिए, मुरबाड तालुका के बंधीवली के किसान योगेश भोइर ने समय पर पंचनामा जारी करके प्रशासन को हमें राहत देने की आवश्यकता व्यक्त की है।  मुरबाड तालुका में इस बारिश से 100 से 150 हेक्टेयर धान की फसल प्रभावित होने की आशंका है। इस बारिश से धान के अलावा नाचनी, वरई, उड़द और तिल जैसी फसलें भी प्रभावित हुई है। इन फसलों के नुकसान को लेकर राजस्व विभाग ने सोमवार से पंचनामा शुरू कर दिया है।