Reservation Window

    भिवंडी: भिवंडी रोड रेलवे स्टेशन (Bhiwandi Road Railway Station) स्थित दो आरक्षण खिड़की (Reservation Window) में से एक आरक्षण खिड़की रेल विभाग द्वारा बंद किए जाने से यात्रियों (Passengers) की परेशानी बढ़ गई है। टिकट आरक्षण की एक ही खिड़की खुली होने की वजह से आरक्षित टिकट (Reserved Ticket) लेने वालों की भारी भीड़ जमा हो रही है, लेकिन यात्रियों को बगैर टिकट प्राप्त किए ही मायूस होकर घरों लौटना पड़ रहा है। रेल विभाग की मनमानी कार्यप्रणाली से यात्रियों में भारी आक्रोश व्याप्त है। जनहित सामाजिक संस्था ने मध्य रेल महाप्रबंधक से यात्रियों की सुविधा के लिए आरक्षण खिड़की को अबिलम्ब शुरू किए जाने की अपील की है।

    गौरतलब है कि भिवंडी रोड रेल स्टेशन पर रेल विभाग द्वारा दो आरक्षण खिड़की की सुविधा यात्रियों को प्रदान की गई थी। वैश्विक महामारी कोरोना की शुरुआत में ही तमाम ट्रेनें बंद होने से आरक्षण केंद्र भी बंद हुआ था जो फिर ट्रेनें शुरू होने पर दो आरक्षण खिड़की में से एक ही आरक्षण खिड़की को शुरू किया गया है। सूत्रों की माने तो रेल विभाग द्वारा आरक्षण खिड़की पर कम टिकट निकलने का हवाला देकर दूसरी आरक्षण खिड़की को बंद किया गया, जबकि भिवंडी पावरलूम नगरी से प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में लोग मुलुक जाने के लिए आरक्षण टिकट निकालने के रेलवे स्टेशन पर आते रहते हैं।

    रेल विभाग की मनमानी से यात्री परेशान

    टिकट आरक्षण खिड़की से टिकट प्राप्त करने गए राम कुबेर मौर्य, लाल सिंह, रामचंद्र सिंह, आसिफ अंसारी, रामलाल वैश्य,कुमार पाल आदि यात्रियों ने रोष प्रकट करते हुए कहा कि रेल विभाग द्वारा हमेशा भिवंडी निवासी यात्रियों के साथ अन्याय किया जाता रहा है। भिवंडी रोड स्टेशन पर यात्रियों की बैठने की सुविधा सहित स्वच्छ पानी, शौचालय,कैंटीन आदि की सुविधा न के बराबर है।आरक्षण केंद्र पर यात्रियों को धूप, बारिश में भी बाहर ग्राउंड में खड़े रहना मजबूरी है।

    स्टेशन प्रांगड़ में यात्री सुविधा की अनदेखी 

    स्टेशन प्रांगड़ में यात्री सुविधा की एकदम अनदेखी है।यात्रियों का कहना है कि रेल विभाग द्वारा आरक्षण की दूसरी खिड़की को बंद कर सैकड़ों यात्रियों को टिकट आरक्षण सुविधा से भी वंचित किए जाने का षड़यंत्र किया जा रहा है। भिवंडी पावरलूम नगरी में रह रहे यूपी, बिहार, राजस्थान, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश आदि के लोगों के साथ रेल विभाग पूर्णतया नाइंसाफी कर रहा है। भिवंडी रोड स्टेशन पर एक ही आरक्षण खिड़की खुली होने से आरक्षण मिलना लोगों को बेहद कठिन साबित हो रहा हैं। आरक्षण  खिड़की बंद होने से करीब 100 लोगों से ज्यादा को टिकट नहीं मिलता और मायूस होकर घर लौटना पड़ता है।

    आरक्षण खिड़की जल्द शुरू करें

    जनहित सामाजिक संस्था ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव और रेलवे महाप्रबंधक से भिवंडी रोड स्टेशन पर बंद आरक्षण खिड़की को अविलंब शुरू किए जाने की मांग की है। आरक्षण खिड़की न शुरू होने पर यात्री संगठनों के साथ मिलकर धरना, आंदोलन किए जाने की चेतावनी दी है।