NOC Road news

Loading

-राजीत यादव

नवी मुंबई: नवी मुंबई महानगरपालिका (NMMC) के माध्यम से किए जाने वाले सड़क निर्माण और रखरखाव कार्यों को शुरू करने के लिए नवी मुंबई पुलिस के यातायात नियंत्रण विभाग की एनओसी लेना अनिवार्य है। कई बार इस विभाग द्वारा उक्त एनओसी (NOC) देरी से जारी की जाती है। जिसकी वजह से महानगरपालिका के संबंधित विभाग को उक्त निर्माण कार्य शुरू कराने में देरी होती है। जिसका खामियाजा वाहन चालकों को भुगतान पड़ता है।

गौरतलब है कि नवी मुंबई महानगरपालिका के माध्यम से नागरिकों के लिए अच्छी सड़कों और फुटपाथों का निर्माण और खराब सड़कों तथा फुटपाथों की मरम्मत का काम हमेशा कराया जाता है। सड़कों और फुटपाथों का लगातार उपयोग होने की वजह से उनकी आवश्यकता के अनुसार रखरखाव, मरम्मत और सीमेंट कांक्रीटिंग कराना एनएमएमसी की प्राथमिकता है, लेकिन इस तरह के काम को शुरू करने पर यातायात बाधित होगा या नहीं, इसके बारे में नवी मुंबई पुलिस के यातायात नियंत्रण विभाग से अनुमति की आवश्यकता होती है। समय पर पुलिस से अनुमति नहीं मिलने से मनपा के उक्त काम पर ब्रेक लग जाता है। जिसे दूर करने के लिए एनएमएमसी के संबंधित विभाग के अधिकारियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।

स्थान का निरीक्षण करने के बाद देते हैं NOC

उक्त कार्यों के दौरान कुछ समय के लिए यातायात व्यवस्था गड़बड़ाने की संभावना होती है। जिसके संबंध में यातायात पुलिस स्थल का निरीक्षण करती है। इस निरीक्षण के बाद ट्रैफिक जाम से निपटने की योजना बनाती है। इसके बाद एनएमएमसी को काम करने की अनुमति देती है।  इस संबंध में नियमों की कमी के कारण उक्त अनुमति देने की प्रक्रिया में समय लगता था। परिणामस्वरूप निर्धारित अवधि में न तो सड़क की मरम्मत होती है और न ही नई सड़क बनाने का उद्देश्य पूरा होता है। जिसकी वजह से नागरिकों को  बदहाल सड़कों और फुटपाथों का ही उपयोग करना पड़ता है। खराब सड़कों या फुटपाथों का उपयोग करते समय सड़क हादसे होने की संभावना बनी रहती है।

पुलिस के यातायात नियंत्रण विभाग से एनएमएमसी को सहयोग मिलते रहता है। मौजूदा समय में ठाणे के मुंब्रा और कोपरी में पुल से संबंधित काम चल रहा है, जिसकी वजह से ठाणे-बेलापुर मार्ग पर ट्रैफिक का भार बढ़ गया है। इस वजह से नवी मुंबई में सड़क का काम करने के लिए एनओसी मिलने में विलंब हो जाता है।

-संजय देसाई, शहर अभियंता, नवी मुंबई महानगरपालिका