Mango arrivals increased - hundreds of people got jobs

    ठाणे. ठाणे (Thane) और पालघर जिलों (Palghar Districts) के हापुस आम (Hapus Mango) को निर्यात के लिए भौगोलिक दर्जा दिया गया है। कृषि विभाग (Agriculture Department) अब हापुस आम उत्पादकों और विक्रेताओं को पंजीकृत करने के लिए एक उनकी तलाश कर सूची तैयार कर रहा है। इतना ही नहीं कृषि विभाग ने अब इन आम उत्पादकों के कैंप लगाने और उनसे यूरोप (Europe) सहित अन्य देशों में हापुस निर्यात करने के लिए कागजी कार्रवाई कर परमिट देने का कार्य शुरू कर दिया है। आनेवाले समय में ठाणे के हापुस विदेश बिकने के लिए जानेवाले हैं।

    गौरतलब है कि कोंकण के राजा हापुस आम की देश-विदेश में काफी मांग है। रत्नागिरी जिले के हापुस आम की तरह ही अब ठाणे और पालघर जिलों में उत्पादित हापुस आम को निर्यात के लिए भौगोलिक दर्जा दिया जा चुका है। ठाणे और पालघर जिलों में उत्पादन करनेवाले किसानों को पंजीकृत करने का कार्य जिला कृषि विभाग द्वारा किया जा रहा है।

    किसानों को होगा फायदा

    जिला कृषि अधिकारी अंकुश माने ने बताया कि अब तक ठाणे जिले में उत्पादित होनेवाले हापुस आम को शहर या दूसरे राज्यों में बेंचने के लिए भेजा जाता था, अब ठाणे जिला और पालघर जिले के हापुस को अच्छी भौगोलिक रेटिंग दी गई है। इस अच्छी भौगोलिक रेटिंग की वजह से अब ठाणे और पालघर जिले के किसान हापुस आम बाहर देश में भेजकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।