Mahavitaran

    उल्हासनगर : बिजली के मीटरों की रीडिंग करने का काम करने वाली एक एजेंसी (Agency) के खिलाफ स्थानीय महावितरण विभाग (Mahavitaran Department) द्वारा धोखाधड़ी करने का मामला पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया है। शिकायत के मुताबिक संबंधित एजेंसी ने बिजली उपभोक्ताओं (Electricity Consumers) के साथ साठगांठ कर बिजली विभाग (Electricity Department) का 3 लाख 91 हजार के समकक्ष का नुकसान किया है। 

    मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर कैंप (Ulhasnagar Camp) क्रमांक 3 में स्थित साईंबाबा मंदिर (Saibaba Temple) के समीप जो महावितरण का कार्यालय है उसके माध्यम से यह भांडाफोड़ हुआ है। बिजली आपूर्ति विभाग द्वारा निविदा प्रक्रिया के जरिए शिवशक्ति संगणक कुशल सहकारी संस्था अंबरनाथ को बिजली ग्राहकों के मीटर रीडिंग करने का कार्य दिया गया था।  कुछ अर्से बाद कार्य समाधानकारी न होने के कारण अक्टूबर 2021 में उक्त कार्य किसी दूसरी एजेंसी को दिया गया है। जिसमें शिवशक्ति संगणक कुशल सहकारी संस्था अंबरनाथ और दूसरी एजेंसी द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर बिजली विभाग को लगा की आर्थिक धोखाधड़ी हुई है।

    शिवशक्ति संगणक कुशल सहकारी संस्था अंबरनाथ के कर्मचारी सचिन चौधरी द्वारा मीटर रीडिंग करते समय जानबूझकर कम रीडिंग बताया जाता था।महावितरण के स्थानीय अधिकारी किशोर जाधव की शिकायत पर सेंट्रल पुलिस ने  मामला दर्ज किया है। अक्टूबर महीने में ऊक्त गोलमाल किया गया था।  जाधव ने मामला सोमवार को दर्ज कराया  है।