Traffic police filling potholes in Bhiwandi

    भिवंडी. बरसात (Rain) की वजह से सड़कों पर हुए बड़े-बड़े गड्ढों को महानगरपालिका प्रशासन (Municipal Administration) ठीक तरीके से दुरुस्त नहीं कर पा रहा है।सड़कों पर हुए गड्ढों (Potholes) में सड़क अथवा सड़क (Road) में गड्ढा का अंदाजा लगाना बेहद कठिन हो गया है। सड़क हादसों को रोकने के लिए नारपोली ट्रैफिक पुलिस (Narpoli Traffic Police) के कर्मचारी (Employees) एकजुट होकर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (Senior Police Inspector) पाटिल के मार्गदर्शन में सड़कों पर हुए गड्ढों सहित सड़क किनारे हुए गड्ढों में कंक्रीट (Concrete)डालकर दुरुस्त किए जाने का कार्य कर रहे हैं।

    ट्रैफिक पुलिसकर्मियों द्वारा गड्ढा दुरुस्ती के किए किये जा रहे प्रयास से शहरवासी ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की प्रशंसा कर रहे हैं। सड़कों पर हुए गड्ढों की ठीक से दुरुस्ती न होने से शहरवासियों में महानगरपालिका प्रशासन की कार्यप्रणाली के खिलाफ भारी असंतोष देखा जा रहा है।गौरतलब है कि बरसात के कारण शहर की तमाम सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे पैदा हो गए हैं। दुपहिया वाहन चालक,पैदल राहगीर गड्ढों में गिरकर हाथ पैर तोड़ रहे हैं।शहर स्थित तमाम प्रमुख मार्गों एवं मार्गो के किनारे हुए जानलेवा गड्ढे से पैदल यात्रियों का भी बच कर सुरक्षित निकलना बेहद मुश्किल साबित हो रहा है।

    गणपति पर्व के पूर्व सड़क पर हुए गड्ढों की भराई किए जाने के उपरांत भी एक ही बारिश में सड़कों पर पुनः गड्ढे उत्पन्न हो जाने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। महानगरपालिका के सूत्रों की माने तो महानगरपालिका प्रशासन द्वारा गड्ढों की भराई में करीब 20- 25 लाख  रुपए से अधिक बरसात की समयावधि में गड्ढों की भराई के लिए खर्च किया जा चुका है लेकिन गड्ढे जस के तस बने हुए हैं। गणेश पर्व में गणराया की मूर्तियां भी 4 दिन पूर्व गड्ढों में हिचकोले खाते हुए पांडाल और घरों तक पहुंची हैं। डेढ़ दिन की गणपति विसर्जन भी भक्तों द्वारा गड्ढों में गिरते हुए की गई है। 

    ट्रैफिक पुलिस के कार्यों की शहरवासी कर रहे प्रशंसा

    महानगरपालिका प्रशासन द्वारा मार्ग दुरुस्ती पर अपेक्षित ध्यान नहीं दिए जाने की वजह से सड़क हादसे भी तेजी से बढ़ रहे हैं। सड़क हादसों के निरंतर घटित होने से ट्रैफिक पुलिस विभाग उक्त मुद्दे को बेहद गंभीरता से लेते हुए प्रमुख मार्गों सहित मार्ग के किनारे हुए गड्ढों की कंक्रीट से भराई किए जाने में जुटा है। नारपोली विभाग ट्रैफिक पुलिस सीनियर इंस्पेक्टर पाटिल की देखरेख में कशेली से अंजुर फाटा मार्ग पर तमाम गड्ढों को जरूरी कंक्रीट से भरा जा रहा है। मुंबई-नासिक महामार्ग पर मार्ग किनारे हुए गड्ढों की भी कंक्रीट से भराई ट्रैफिक विभाग के जवानों द्वारा की जा रही है। भिवंडी कल्याण मार्ग स्थित कोन गांव से राजनोली नाका सड़क किनारे हुए तमाम गड्ढों को ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की टीम भरने में जुटी है। महानगरपालिका  प्रशासन की लापरवाही की वजह से भिवंडी शहर में चारो ओर गड्ढे ही गड्ढे दिखाई पड़ रहे हैं। दुपहिया चालक, पैदल यात्री गड्ढों में गिरकर हाथ-पांव तोड़ रहे हैं।

    फ्लाईओवर पर भी गड्ढों की भरमार

    भिवंडी शहर स्थित स्वर्गीय राजीव गांधी फ्लाईओवर एवं धामनकर नाका फ्लाईओवर पर जानलेवा गड्ढों की भरमार हो गई है। फ्लाईओवर से वाहन चालकों का बड़े-बड़े गड्ढों से गुजरकर सुरक्षित निकलना एक चैलेंज साबित हो रहा है। फ्लाईओवर पर हुए भारी भरकम गड्ढों की वजह से भारी जाम लग रहा है। जिससे सड़क हादसे घटित हो रहे हैं। महानगरपालिका सूत्रों की मानें तो महानगरपालिका द्वारा बरसात शुरू होने से अब तक कई बार मार्ग एवं फ्लाईओवर पर हुए गड्ढों की भराई किए जाने के उपरांत भी फिर बारिश होने से गड्ढों का निर्माण हो रहा है। महानगरपालिका बारिश बंद होते ही गड्ढों की भराई का युद्ध स्तर पर काम शुरू करेगी।