Flowerpot, Wardha, ZP

वर्धा. कार्यालय में देरी से पहुंचने वाले लेटलतीफ अधिकारी व कर्मियों का अनोखे तरीके से स्वागत कर जिप अध्यक्ष ने गांधीगिरी की थी. इन सभी को 26 जनवरी तक एक गमला लाकर जिप की इमारत तथा परिसर में लगाने के निर्देश दिये गए थे. इस पर अमल करते हुए अब तक 204 में से 8 लोगों द्वारा गमले लगाने की जानकारी मिली है.

बता दें कि 16 दिसंबर को जिप अध्यक्ष सरिता गाखरे, उपाध्यक्ष वैशाली येरावार, सभापति मृणाल माटे व सरस्वती मड़ावी ने जिप के प्रवेश द्वार पर खड़े रहकर गांधीगिरी की थी. इस दौरान देरी से आने वाले अधिकारी व कर्मियों का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया. दो घंटे तक चले इस आंदोलन में करीब 204 लेटलतीफ पाये गए. इन सभी को जिप अध्यक्ष ने अनोखी सजा सुनाई़ 26 जनवरी तक सभी ने एक गमला लाकर जिप की इमारत अथवा परिसर में लगाने के निर्देश दिये गए थे.

शुरुआती दिनों में इस बात को नजरअंदाज किया गया., परंतु इस संबंध में पुन: निर्देश जारी होने से कुछ अधिकारी व कर्मियों ने गमले लगाने शुरू कर दिए हैं. मंगलवार, 29 दिसंबर को अध्यक्ष के कक्ष के समक्ष दीवार पर करीब आठ गमले लगाये गए थे, जिस पर संबंधित अधिकारी व कर्मी का नाम लिखा हुआ था. 26 जनवरी तक शेष 196 कर्मचारी व अधिकारियों को जिप परिसर में गमले लगाने हैं, ऐसी सूचना जिप अध्यक्ष सरिता गाखरे ने दी है.