doctor
File Photo

    वर्धा. किसी भी प्रकार की मेडिकल की डिग्री नहीं होने के बावजूद भी मरीजों को दवा देने वाले बोगस डाक्टर के खिलाफ कार्रवाई की गई‍. उसके पास से फर्जी सर्टिफिकेट जब्त किया गया है़ स्वास्थ्य विभाग के दस्ते ने जिले में बोगस डाक्टरों के खिलाफ कार्रवाई आरंभ कर दी है.

    इस दौरान आर्वी के वाढोणा स्थित रवींद्रनाथ शैलेंद्रनाथ मलिक के अस्पताल पर छापा मारा गया़ इस दौरान रवींद्र को मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाने को कहा़ उसने दिखाया सर्टिफिकेट अवैध होने से वह जब्त किया गया है.

    रवींद्रनाथ मलिक यह इलेक्ट्रो होमियोपैथिक के डाक्टर है‍. उन्हें अस्पताल डालकर मरीजों की जांच करने की अनुमति नहीं है़ फिर भी वह मरीजों को दवा दे रहे थे‍. मलिक के खिलाफ महाराष्ट्र वैद्यकीय व्यवसाय कानून के अंतर्गत कार्रवाई की गई.