water supply
प्रतिकात्मक तस्वीर

    वर्धा. महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण के जरिए शहर के आस पड़ोस में 13 गांवों को जलापूर्ति की जाती है़  इसके कुल 17 हजार 938 नल कनेक्शनधारक बताये गए है़ परंतु समय रहते जलापूर्ति का बिल अदा न करने से ग्राहकों पर मजीप्रा के 20 करोड़ 67 लाख रुपयों का बकाया है़  उक्त बिल शीघ्र अदा करने की अपील नल कनेक्शनधारकों से की गई है. अन्यथा कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी मजीप्रा ने दी है़ पिपरी (मेघे) प्लस 13 गांवों के लिए प्रादेशिक जलापूर्ति योजना चलायी जा रही है़  मजीप्रा के माध्यम से इन गांवों को जलापूर्ति की जाती है.

    बिलिंग सिस्टम को लेकर नागरिकों में रोष

    वर्ष 2009 में इस योजना को मंजूरी मिली थी़  परंतु उक्त पाइप लाइन काफी जीर्ण होने से आये दिन लीकेज की समस्या पैदा हो रही है़  इससे क्षेत्र की जलापूर्ति बार-बार प्रभावित हो रही है. जलापूर्ति योजना के देखरेख की जिम्मेदारी महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण की है़  इस योजना के माध्यम से नागरिकों को शुध्द पेयजल की आपूर्ति हो रही है़  इसके ऐवज में मजीप्रा प्रशासन ग्राहकों से बिल की वसूली करता है़  प्रति लीटर पानी के उपयोग के अनुसार बिल वसूले जाते है़ परंतु बिलिंग सिस्टम को लेकर नागरिकों में असंतोष देखा जा रहा है.  

    निर्धारित समय पर भुगतान नहीं किया जा रहा

    100 लीटर से अधिक पानी का उपयोग होने पर अधिक बिल लगाया जाता है़ परिणामवश ग्राहक इसकी अदायगी नहीं कर पाते़  इससे बिल की राशि बढ़ने से बड़ी राशि बकाया रह जाती है़ दिये गए समय पर बिल अदा नहीं किया गया तो, नल कनेक्शन काटने की कार्रवाई होती है़  वर्तमान में करीब 17 हजार 938 ग्राहक जलापूर्ति का लाभ उठा रहे है़ं अनेकों पर जलापूर्ति का बिल बकाया है़  नवंबर 2021 तक करीब 20 करोड़ 67 लाख रुपए बिल ग्राहकों से वसूले जाने की जानकारी मजीप्रा प्रशासन ने दी है. 

    अन्यथा काटे जाएंगे ग्राहकों के कनेक्शन

    उल्लेखनिय हैं कि अनेक ग्राहकों की ओर जलापूर्ति के बिल बकाया है़  इन सभी ग्राहकों को समय पर बिल अदा करने को कहा गया है़ कुछ ग्राहकों की पांच से छह माह के बिल बकाया है़ वे बिल की राशि अदा नहीं करेंगे, तो उनके नल कनेक्शन काटे जा सकते है़.

    बार-बार प्रभावित हो रही जलापूर्ति

    दूसरी ओर ग्राहक भी मजीप्रा की जलापूर्ति बार-बार प्रभावित होने से रोष व्यक्त कर रहे है़ं  पिछले कुछ महीनों से कई बार पाइप लाइन लीकेज की समस्या आने से तीन से चार दिनों तक जलापूर्ति ठप रहती है़ पुरानी लाइन बदलने की मांग ग्राहक कर रहे है़ं अनियमित जलापूर्ति के बावजूद भी बढ़ा चढ़ाकर बिल भेजे जाने पर ग्राहकों ने आपत्ति जताई है.

    ग्राहक अदा करें जलापूर्ति के बिल

    जिन ग्राहकों की ओर जलापूर्ति बिल बकाया है, वें शीघ्र बिल अदा करें. समय रहते बिल न भरने वालों के खिलाफ मजीप्रा कार्रवाई करेंगी.  नागरिक मजीप्रा को सहयोग करें.

    -र.प्रे. चन्द्रिकापुरे, कार्यकारी अभियंता-मजीप्रा.