Wardha NP

    वर्धा. शहर में चलाई जा रही भुमिगत गडर योजना के कारण लगभग सभी मार्गों की हालत खराब है़  मार्ग की खुदाई के बाद सही ढंग से मरम्मतकार्य नहीं किया जाने से चलना तक मुश्कील हो गया है़ किंतु नप द्वारा नियुक्त ठेकेदार फिर मार्ग पर मरम्मतकार्य करने को तैयार नहीं. नागरिकों का बढता रोष देखते हुए नगर परिषद ने स्वयं ही सभी मार्गों पर डामर का कोटींग करने का फैसला लिया है़ यही मुद्दा मंलवार को होनेवाली नगर परिषद की ऑनलाईन सभा में शिर्ष था, ऐसी जानकारी है़   तांत्रिक दिक्कतों की वजह से यह सभा तहकूब की गई, जो बुधवार को आयोजित की जाएगी.

    आवाज नहीं आने का दिया कारण

    मंगलवार को नगर परिषद की इस ऑनलाईन सभा में पदाधिकारी एवं अधिकारी जुडे थे़  दौरान नगर परिषद विभिन्न शीर्ष अंतर्गत प्राप्त निधी के माध्यम से शहर के मार्गों का डामर कोटींग करेगी, यह मुद्दा शिर्ष में था, ऐसी जानकारी सुत्रों से प्राप्त हुई़  किंतु, आवाज नहीं आने का कारण बताकर सभा तहकूब करने का निर्णय लिया़  यह सभा आज 29 सितंबर को होनेवाली है़  सभा में मार्गों के मरम्मतकार्य पर चर्चा होने से इस ओर सभी की नजरे टीकी है.  

    ठेकेदार ने झाडा पल्ला

    भुमिगत गडर योजना की वजह से शहर के पक्के मार्गों पर खुदाई कार्य किया गया़  दौरान ठेकेदार ने मरम्मतकार्य सही ढंग से नहीं किया़  मार्गों पर जगह जगह गड्ढे पड जाने से दुपहिया से गुजरना मुश्कील हो गया है़  यह योजना 100 करोड रुपयों की है़  मार्गों के मरम्मत की संपूर्ण जिम्मेदारी ठेकेदार की थी़  किंतु वह मरम्मत कार्य करने को तैयार नहीं. नगर परिषद प्रशासन ने ठेकेदार पर दबाव बनाना जरूरी था़  किंतु स्वयं ही मार्गों पर डामर का कोटींग करने का निर्णय लिया जा रहा है़  यह खर्च नगर परिषद के अन्य शीर्ष अंतर्गत होने से बाकी विकासकार्यों पर प्रभाव पडेगा़  परिणामवश कुछ नगरसेवक इसे विरोध जता रहे है.  

    यह चुनावी मुद्दा 

    यह पूर्णत: चुनावी मुद्दा है़  सिमेंट मार्ग पर डामर का कोटींग जादा दिन नहीं रहेगा, यह वास्तविकता है़  खुदाई किए मार्गों मार्गों का पुन:निर्माण एकमात्र विकल्प है़  नगराध्यक्ष नागरिकों का रोष दूर करने के लिए यह तरकीब आजमा रहे है.  

    -त्रिवेणी कुत्तरमारे, पूर्व नगराध्यक्ष तथा विद्यमान नगरसेवक