Tax
Representational Pic

वर्धा. कोरोना महामारी के कारण जिले की 6 नगर परिषद की टैक्स वसूली में भारी गिरावट दर्ज की गई है. इसके चलते नगर परिषद का आर्थिक बजट पूरी तरह से गड़बड़ा जाने से विकास कामों के साथ ही अन्य प्रशासकीय कामकाज पर परिणाम हुआ है. जिले में वर्धा, हिंगनघाट, आर्वी, पुलगांव, देवली व सिंदी रेलवे नगर परिषद है. सरकार के विविध फंड के साथ प्रापर्टी टैक्स वसूली से नगर परिषद को बड़ी राशि आय के रूप में मिलती है.

टैक्स के माध्यम से मिलने वाली राशि विविध कार्यों के साथ ही कर्मचारियों के बकाया वेतन व अन्य प्रशासकीय कामकाज पर खर्च की जाती है. किंतु नप की तिजोरी में धनराशि नहीं होने के कारण सभी नगर परिषदों को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है. प्रापर्टी टैक्स की वसूली के लिये नगर परिषद अनेक बार सख्त कार्रवाई करती है. अनेक वर्षों से बकाया टैक्स वसूलने के लिये जब्ती की कार्रवाई की जाती है. गत वर्ष सन 2019-20 में वर्धा नगर परिषद की प्रापर्टी टैक्स की वसूली केवल 58.9 प्रतिशत तथा जलापूर्ति विभाग की 30.31 प्रश वसूली हुई है. गत वर्ष बकाया 4 करोड़ 73 लाख 59 हजार तथा वर्तमान 7 करोड़ 88 लाख 44 हजार सहित कुल 12 करोड़ 62 लाख 3 हजार की वसूली का लक्ष्य निर्धारित था.

कोरोपा महामारी का पड़ा असर

लॉकडाउन के पूर्व तक बकाया टैक्स में से 3 करोड़ 14 लाख 26 हजार तथा वर्तमान टैक्स में से 4 करोड़ 29 लाख 19 हजार सहित कुल 7 करोड़ 43 लाख 45 हजार रुपए टैक्स वसूल किया गया, जिसका प्रतिशत केवल 58.9 फीसदी था. कोरोना संक्रमण के चलते सरकार ने लॉकडाउन लागू करने के कारण तथा नप की प्रशासकीय विभाग कोरोना की रोकथाम में लगने से 31 मार्च का निर्धारित टारगेट नप पूर्ण नहीं कर पाई.

निर्धारित लक्ष्य पूरा नहीं कर पाया प्रशासन

आर्थिक वर्ष 2020-21 में प्रापर्टी टैक्स 14 करोड़ 19 लाख 22 हजार 301 रुपये तथा जलापूर्ति विभाग का 6 करोड़ 8 लाख 22 हजार 162 टैक्स बकाया है. किंतु 15 दिसंबर तक प्रापर्टी टैक्स में से 1 करोड़ 64 हजार 11 हजार 513 वसूली हुई, जिसका प्रश केवल 11.53 है. उसी तरह जलापूर्ति योजना में केवल 43 लाख 97 हजार 56 रूपये वसूली हुई. जलापूर्ति योजना की 7.22 प्रश वसूली हुई है. आर्वी नप में सन 2019-20 में 61.50 प्रश की वसूली होने की जानकारी नप ने दी. 2020-21 में अब तक 24.60 प्रश वसूली हुई है. देवली में 2012-13 के एसेसमेंट के अनुसार 4040 प्रापर्टीधारक है. 2019-20 में 36 लाख 77 हजार 696 रुपए का टारगेट था, जिसमें से 19 लाख की वसूली हुई. सन 2020-21 में अब तक केवल 10 प्रश वसूली हुई है. पुलगांव, हिंगनघाट, सिंदी नप में भी वसूली का हाल कुछ ऐसा ही है.

टैक्स धारकों से सहयोग की अपील

टैक्स के रूप में मिलने वाली राशि से शहर में विविध विकास कार्य किये जाते हैं. वहीं कोरोना संक्रमण के कारण टैक्स वसूली पर भारी परिणाम हुआ है. नागरिकों ने प्रापर्टी व जलापूर्ति विभाग के टैक्स का भुगतान करते हुए नप को सहयोग करना चाहिए.

-विपीन पालीवाल, CO-नप-वर्धा.