File Pic
File Pic

    कारंजा-घा. अनियमित बिजली आपूर्ति व महावितरण की अडियत नीति के खिलाफ शिवसेना ने महावितरण कार्यालय पर बैलबंडी मोर्चा निकाला़ इसमें बडी मात्रा में क्षेत्र के किसान शामील हुए थे़ पिछले चार वर्षों से किसान इस समस्या का सामना कर रहे है़ रात्रि के समय बिजली आपूर्ति होने से किसानों पर वन्यजीओ का संकट मंडराता है़.

    इस संबंध में कुछ कहने पर महावितरण के अधिकारी अडियल रवैया अपनाते है़ अधिकारी व ठेकेदार की मिलिभगत से काम चल रहा है़ बिजली बिल अदा करने के बाद भी किसानों को परेशान किया जा रहा है़ इससे तंग आकर शिवसेना के संदीप भिसे की अगुवाई में तहसील व महावितरण कार्यालय पर बैलबंडी मोर्चा निकाला गया़ जहां से ऊर्जा मंत्री नितीन राऊत व जिलाधिकारी को मांगों का ज्ञापन भेजा गया़ 

    किसानों ने रबी की तैयारिया शुरु कर दी है़ बुआई कार्य आरंभ हो चुका है़ फसलों को सिंचाई के लिए रात्रि के समय बिजली आपूर्ति की जा रही है़ इससे किसानों को त्रासदी हो रही है़ अंधेरा छाया रहने से किसानों को जान जोखीम में डालनी पडती है़ इस संबंध में कई बार शिकायत करने पर भी महावितरध ध्यान नहीं दे रहा है़ तहसील से सटे नागपुर जिले के क्षेत्र में दिन में बिजली आपूर्ति होती है़ फीर कारंजा के किसानों पर अन्याय क्यों, ऐसा सवाल किसान उपस्थित कर रहे है़ .

    दिन में बिजली आपूर्ति की मांग को लेकर 22 नवम्बर को संदीप भिसे व किसानों के बैलबंडी मोर्चा ने महावितरण कार्यालय पर दस्तक दी़ जहां सहा़ अभियंता आकाश राजूरकर, नायब तहसीलदार सालवे एवं महावितरन के अधिकारी उपस्थित थे़ किसानो ने मांग का ज्ञापन सौंपा़ पश्चात उन्हें पांच दिन दिन में व दो दिन रात को बिजली आपूर्ति करने का आश्वासन दिया गया़ मोर्चा में संदीप भिसे, विष्णू खवशी, प्रवीण गवडे, राजू सोनारे, वाल्मीक ठाकरे, मंगेश डोबले, सतीश डोबले, मेघराज खवशी, अजाब खवशी, अरविंद चौधरी, दिलीप चौधरी, अनिल मंजूरकर सहित किसान बडी संख्या में शामील हुए थे़.