File Photo
File Photo

    वर्धा. कोरोना संकट से राहत मिलने के बाद परिवहन सेवा पूर्ण क्षमता के साथ शुरू हो गई है़ परंतु रेलवे की पैसेंजर गाड़िया बंद होने के कारण बिना आरक्षण स्पेशल ट्रेनो में यात्रियों प्रवेश नहीं है़ त्योहारों का मौसम होने से रेलवे में भी यात्रियों की संख्या बढ़ रही है़ परंतु आरक्षित टिकट पाने के लिए यात्रियों को त्रासदी उठानी पड़ रही है.

    कोरोना संकट के कारण रेल सेवा प्रभावित हो गई थी़ इससे रेलवे को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ा. परंतु लंबे समय के बाद पिछले कुछ महीनों से रेलव सेवा शुरू कर दी गई़ किन्तु रेलवे प्रशासन ने फिलहाल लंबे पल्ले की स्पेशल ट्रेनें ही चलाने का निर्णय लिया है़ लोक पैसेंजर गाड़ियां बंद होने के कारण यात्रियों को काफी मुश्किलें उठानी पड़ रही है. इन दिनों त्योहारों का मौसम होने से रेलवे से सफर करने वालों की संख्या भी बढ़ती जा रही है़ परंतु यात्रियों को आसानी से आरक्षित टिकट नहीं मिल पा रहा है़ उनकी इसी मजबूरी का लाभ उठाकर अतिरिक्त राशि वसूल कर आरक्षित टिकट उपलब्ध कराने वाले बिचौलिए सक्रिय हो गए है.

    प्रशासन से जरूरी सुविधाएं देने की मांग 

    पिछले दो तीन महीनों में आरपीएफ पुलिस ने आनलाइन आरक्षित टिकट बिना किसी लाइसेंस के उपलब्ध करा देने के मामले में कुछ बिचौलियों को हिरासत में लिया है़  उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई़ परंतु पिछले कुछ दिनों से यात्रियों की संख्या बढ़ने के कारण रेलवे प्रशासन ने उन्हें सुविधा देने के लिए उपाय योजना करने की मांग हो रही है़  साथ ही जिले से चलनेवाली पैसेंजर गाड़ियां पूर्ववत शुरू करने की मांग यात्री कर रहे है़.