Dharna

  • बिरसा ब्रिगेड व एआईआईएसएफ ने रखी मांग

वर्धा. कोरोना महामारी के काल में बंद किए गए आदिवासी छात्रावास शुरू करने की मांग को लेकर बुधवार को बिरसा ब्रिगेड व एआईआईएसएफ के पदाधिकारियों ने एकात्मिक आदिवासी विकास प्रकल्प परिसर में धरना आंदोलन किया. आदिवासी विकास विभाग की ओर से चलाए जाने वाले छात्रावास कोरोना संक्रमण में बंद किए गए थे, जिसमें विद्यार्थियों को छात्रावास छोड़ने के लिए कहा गया.

इस कारण विद्यार्थी गांव लौटे. आज राज्य सरकार के मार्गदर्शन से संपूर्ण महाविद्यालयीन सत्र शुरू हो गया है. ऐसे में महाविद्यालयों में नियमित विद्यार्थियों की उपस्थिति रहे, इसलिए छात्रों को रहने छात्रावास उपलब्ध कराने की मांग को लेकर धरना आंदोलन किया गया.

आंदोलन के दौरान विविध मांगे की गई, जिसमें शासन ने कुछ वर्ष पूर्व छात्रावास में डीबीटी योजना शुरू कर छात्रावास की भोजन पद्धति बंद की. यह पद्धति 11 नवंबर 2011 के शासन निर्णय के तहत शुरू करने, पंडित दिनदयाल योजना बंद कर उसके बदले नए छात्रावास शुरू करने की मांग आंदोलन के दौरान की गई. आंदोलन में बड़ी संख्या में पदाधिकारी, कार्यकर्ता व विद्यार्थी सहभागी हुए.