आज से चालकों की बेमियादी हड़ताल, नायरा एनर्जी डिपो क्षेत्र असुरक्षित: मोहम्मद शेख

    वर्धा. रिपब्लिकन ट्रक, टैंकर ड्राइवर एंड क्लिनर यूनियन के राज्य अध्यक्ष मोहम्मद शकील शेख ने पत्र परिषद में कहा कि दहेगांव स्थित नायरा एनर्जी डिपो के चालक, क्लिनरों की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है़  नियमों के खिलाफ काम हो रहा है़  प्रतिदिन 300 टैंकर का आवागमन होने के बावजूद भी 52 टैंकर के लिए पार्किंग की व्यवस्था है.

    आग जैसी घटना सामने आने पर सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है. परिणामवश ट्रक, टैंकर, क्लिनर 29 सितंबर से बेमियादी कामबंद अनशन किया जाएगा. नायरा एनर्जी डिपो में किसी भी प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था नहीं है़  डिपो तथा गांव में जाने के लिए एक ही मार्ग है़  डिपो के मेन द्वार पर रेल गेट है़  प्रतिदिन 500 लोग वहां आते है़  उनकी सुरक्षा के दृष्टिकोण से कंपनी प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार की उपाय योजना नहीं है.  

    स्वतंत्र मार्ग देने की मांग

    नियमानुसार पार्किंग की जगह 52 टैंकर की है़  नायरा एनर्जी में प्रतिदिन हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन आयल, रिलायन्स आदि कंपनियों के लगभग 300 टैंकर डिपो में लोडिंग के लिए बुलाए जाते है़ं  परिणामवश मार्ग पर टैंकर के कारण गांववासियों को परेशानी होने से चालकों के साथ विवाद की घटनाएं होते रहती है़  गांववासियों का कहना है कि मार्ग हमारे गांव का है़  नायरा कंपनी ने अनधिकृत रूप से मार्ग पर कब्जा किया है, जिससे कंपनी ने अलग मार्ग उपलब्ध करना जरूरी है.  

    कंपनी प्रशासन रहेगा जिम्मेदार

    हड़ताल के दौरान अगर पेट्रोल की किल्लत निर्माण हुई तो इसके लिए नायरा एनर्जी, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन आयल, रिलायन्स कंपनी जिम्मेदार रहेगी़  जब तक सुरक्षा की गारंटी नहीं मिलती, तब तक नायरा एनर्जी से लोडिंग नहीं. इस बारे में केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले, पुलिस अधीक्षक तथा सावंगी थाने के पुलिस निरीक्षक को निवेदन सौंपा है.