File Photo
File Photo

    वर्धा. विजयादशमी की पूर्वसंध्या पर शहर के मुख्य बाजार में रौनक देखने मिली़ ग्राहकों ने खरीदारी के लिए खूब भीड़ की़  सराफा दूकानों में अच्छी ग्राहकी देखने मिली़ शुक्रवार को दशहरे के दिन भी सोने की खरीदारी बड़ी मात्रा में होने की उम्मीद है. नवरात्रि, दशहरा तथा आगामी दिनों में दिपावली का बड़ा त्योहार होने से बाजार में फिर से रौनक छायी गई है. 

    फूलों के दाम आसमान पर

    साथ ही मार्केट में फूलों के दाम सातवें आसमान पर पहुंच गए है़  अतिवृष्टि के कारण फूलों की बाग प्रभावित होने से आवक कम हो गई है़  इससे फूलों के दाम काफी बढ़ने की जानकारी है़ गेंदे के फूल 150 रु़  प्रति किलो, शेवंती 400 रु़  प्रति किलो, गुलाब 800 रु़  प्रति किलो, अस्टर 600 रु़  प्रति किलो के भाव से बेचे जा रहे हैं. इसके अलावा आर्टिफिशल फूलों की भी मांग ग्राहक करते नजर आ रहे हैं. नागपुर से शहर में फूलों की आवक होने की जानकारी विक्रेताओं ने दी.

    सत्य की असत्य पर विजय का पर्व

    हिंदी पंचांग के अनुसार दशहरा विजयदशमी का पर्व हर साल अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है. यह त्योहार बुराइयों के पर्याय राक्षस रावण पर विजय के उपलक्ष्य में मनाया जाता है. साल 2021 में दशहरा का पर्व 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा. कहा जाता है कि इस तिथि को राम ने लंका के राजा रावण को पराजित किया था. इस दिन नवरात्रि के दौरान स्थापित मां दुर्गा की मूर्ति का विसर्जन किया जाता है.

    विजयादशमी के दिन अस्त्र-शस्त्र की पूजा करने की मान्यता है. कहा जाता है कि इस दिन अस्त्र-शस्त्रों की पूजा करने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. पंचांग के अनुसार दशमी तिथि 14 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 52 मिनट पर शुरू हुई. दशमी की उदयातिथि 15 अक्टूबर को है. इसलिए दशहरा का पर्व 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा. इस बार दशमी तिथि पर श्रवण नक्षत्र में सर्वार्थसिद्धि योग, अभिभीज मुहूर्त और विजयी मुहूर्त का संयोग बन रहा है. इस मुहूर्त में दशहरा की पूजा करना उत्तम माना जाता है. इस मुहूर्त में पूजा करने के कई लाभ हैं.

    विशिष्ट संयोग में पूजा से मिलेंगे ये लाभ

    धार्मिक मान्यता है कि इसमें पूजा करने से मां आदिशक्ति की कृपा प्राप्त होती है. इससे जीवन की सारी विषमता खत्म हो जाती हैं. जीवन की सभी परेशानियों व कष्टों से मुक्ति मिलती है. दुःख और दरिद्रता का नाश होता है. धर्म के मार्ग पर चलने वालों की हर जगह विजय होती है.