Pak raises the concern of Indian exporters, cheap Pakistani onions came in the international market
File Photo

    वर्धा. जिले में प्याज का अच्छा उत्पादन होने से इन दिनों प्याज के दाम काफी कम हो गए हैं और अच्छी गुणवत्ता वाला सफेद व लाल प्याज साप्ताहिक बाजार में काफी सस्ता बिक रहा है. अच्छी क्वालिटी का प्याज 20 रुपए किलो नीचे, जबकि कुछ हल्की गुणवत्ता और छोटे आकृति के प्याज 10 रुपए किलो तक भी बिक रहे हैं.

    इस वर्ष परिसर के किसानों ने बड़े प्रमाण में प्याज की फसल की बुआई की थी. किसानों की आर्थिक परिस्थिति भी प्याज की उपज पर निर्भर थी, परंतु इस वर्ष ज्यादा प्रमाण में प्याज की उपज होने से प्याज की कीमत में गिरावट आयी. जिस वजह से प्याज उत्पादक किसानों का भारी नुकसान हुआ.

    इन जिलों में ज्यादा प्रमाण में रिकार्ड उत्पादन लेने वाले किसान हैं, परंतु देखने को मिल रहा है कि इस वर्ष 40 किलो के कट्टे को 100 रुपए का भाव मिल रहा है. पांच सौ रुपए क्विंटल के अंदर प्याज की बिक्री करनी पड़ने से प्याज पर पहले ही ज्यादा प्रमाण में ज्यादा का खर्च हुआ है. इसमें खेत जमीन तैयार करने, निराई, कटाई और महंगा छिड़काव, खाद पर किए खर्च का विचार करने पर इस फसल की वजह से किसानों को नुकसान हुआ है. इस वजह से किसान पर अत्यंत बिकट परिस्थिति आयी है.