Passenger Train, Wardha

    वर्धा. कोरोना संकट काल के कारण बीते 19 माह से बंद पैसेंजर (सवारी) ट्रेनें फिर दौड़ने वाली है. रेलवे ने इस संदर्भ में आवश्यक आदेश जारी कर दिए है, जिससे आम आदमी को बड़ी राहत मिलने के साथ ही आमजनों को यातायात की नई सुविधा उपलब्ध होगी. बीते ढाई वर्ष से विविध कारणों से पैसेंजर ट्रेनों के परिचालन पर निरंतर पाबंदियां लगाई गई है. परिणामवश प्रतिदिन दौड़ने वाली पैसेंजर ट्रेन माह में अनेक दिन बंद रहती थी. इससे यात्रियों को भारी असुविधा निर्माण हुई. मार्च 2020 में कोरोना संक्रमण के चलते पैसेंजर ट्रेन के परिचलन पर पूर्णत: रोक लगाई गई थी. सरकार ने एक्सप्रेस ट्रेनें चरणबद्ध तरीके से शुरू की, परंतु पैजेंसर ट्रेन शुरू करने के संदर्भ में सरकार की ओर से कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किये गये.

    विविध संगठनों ने सरकार से की थी मांग

    वर्धा जंक्शन से वर्धा-बल्लारशाह, नागपुर-वर्धा, वर्धा-अमरावती, वर्धा- भुसावल आदि ट्रेनें दौड़ती थी. परंतु यह ट्रेने बंद होने के कारण यात्रियों को बस तथा अन्य वाहनों से आवगमन करना पड़ रहा है. परिणामवश यात्रियों पर आर्थिक बोझ गिरने के साथ ही समय का भी व्यय होता है. इससे यात्री संघ के साथ विविध संगठन व सांसद, विधायकों व्दारा पैसेंजर ट्रेन शुरू करने की मांग की जा रही थी. मात्र रेलवे ने इस संदर्भ कोई निर्णय नहीं लिया गया था.

    आरक्षणधारकों को मिलता है ट्रेन में प्रवेश

    वर्तमान में रेलवे द्वारा मात्र एक्स्प्रेस ट्रेन शुरू की गई है. इन ट्रेनों से सफर करने के लिये आरक्षण होना जरूरी है. आरक्षण के कारण यात्रियों को वर्धा से नागपुर अथवा अमरावती, चंद्रपुर जाने के लिये आरक्षित टिकट निकालना पड़ता है. जिसमें अधिक राशि यात्रियों को देनी पड़ती है. परिणामवश यात्रियों पर अधिक बोझ पड़ता है. साथ ही समय पर आरक्षण मिलना असंभव होने के कारण यात्री बस अथवा निजी वाहन से आवागमन करने पर मजबूर हो रहे हैं.

    किसान व ग्रामीणों को आने जाने की सुविधा

    पैसेंजर ट्रेन शुरू होने के कारण किसान, मजदूर, छोटे व्यापारी, नौकरीपेशा व ग्रामीणों को सुविधा उपलब्ध होने वाली है. गत दो वर्ष से उन्हें बस अथवा निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ता था. पैसेंजर ट्रेन शुरू होने के कारण दूध, सब्जी व अन्य आवश्यक वस्तुएं ग्रामीण क्षेत्र से शहरों में पहुंचने के लिये सहायता होगी. 

    वर्धा से दौड़ेगी तीन पैसेंजर ट्रेनें

    रेलवे विभाग के डीआरएम कार्यालय व्दारा 24 सितंबर को पत्र जारी किया गया है. इसमें वर्धा-अमरावती-वर्धा, वर्धा-बल्लारशाह–वर्धा, नागपुर-वर्धा–नागपुर पैसेंजर ट्रेन का परिचालन करने के संदर्भ में आदेश दिये गये है. नागपुर-वर्धा-अमरावती यह पैसेंजर मेमू पैटर्न पर होगी. मेमू कोच की व्यवस्था भुसावल से होगी.

    10 से शुरू होगी पैसेंजर ट्रेन की सेवा

    डीआरएम कार्यालय से तीन पैसेंजर ट्रेन शुरू करने के आदेश दिये गये है. 10 अक्टूबर से वर्धा-बल्लारशाह, वर्धा-अमरावती, वर्धा–नागपुर यह ट्रेनें शुरू होगी.

    -धीरज ठाकुर, स्टेशन प्रबंधक-वर्धा जंक्शन.