Schools Reopen

    वर्धा. लंबे अर्से के बाद बुधवार को कक्षा 1 से 4 थी तक की स्कूलें शुरू हो गई. स्कूल के पहले दिन विद्यार्थियों व पालकों में काफी उत्साह देखा गया़ इसके चलते ग्रामीण व शहरी विभाग में स्कूल के पहले दिन विद्यार्थियों की उपस्थिति 50 प्रतिशत दर्ज की गई़  बच्चों का टीकाकरण पूर्ण नहीं होने से कोरोना का खतरा पूर्णत: टला नहीं है़ इससे कुछ पालकों ने अभी स्कूल जाने के लिए अनुमति नहीं दी है़  वहीं आगामी दिनों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. 

    जिले में 1,159 शालाएं हो गई शुरू 

    जिले के आर्वी, आष्टी, देवली, हिंगनघाट, कारंजा, समुद्रपुर, सेलू, वर्धा तहसील के ग्रामीण क्षेत्र की कुल 971 तथा शहरी क्षेत्र की 188 स्कूलें शुरू हो गई.  इस दौरान कुल 45,947 विद्यार्थियों में से 24,412 विद्यार्थी ग्रामीण विभाग के तथा शहरी विभाग में कुल 28,917 विद्यार्थियों में से 12,806 विद्यार्थी उपस्थित रहे़  शहरी विभाग से ज्यादा उत्साह ग्रामीण विभाग में देखा गया. 

    शालाओं में 5,335 शिक्षक रहे उपस्थित 

    शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के कुल स्कूलों में 5 हजार 657 शिक्षक कार्यरत है़ शिक्षकों को कोरोना टीकाकरण अनिवार्य किया गया है़  टीकाकरण पूर्ण होने वाले 5 हजार 335 शिक्षकों ने बुधवार को स्कूल में पहले दिन उपस्थित रहकर अध्यापन का कार्य किया़  इसमें ग्रामीण विभाग के 3 हजार 697 तथा शहरी विभाग के 1,960 शिक्षकों का समावेश है़ जिन शिक्षकों का अभी भी टीकाकरण नहीं हुआ है, उन्हें जल्द टीकाकरण करके ड्यूटी पर उपस्थित रहने के निर्देश शिक्षा विभाग ने दिए है.  

    पहले दिन कई स्कूलें चली 2 सत्रों में

    ऐसी कई स्कूले ही जहां विद्यार्थियों की पटसंख्या काफी ज्यादा है़  शिक्षा विभाग की जारी गाइड लाइन के अनुसार 1 डेस्क पर 1 ही विद्यार्थी इस प्रकार बैठक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए है़  किंतु, विद्यार्थी ज्यादा और कक्षाओं की संख्या कम रहने से अनेक शहरी तथा ग्रामीण विभाग की कई स्कूलें 2 सत्रों में आरंभ हुई़  पहले दिन विद्यार्थियों का काफी अच्छा प्रतिसाद रहा. 

    Schools Reopen

    बच्चों की सुरक्षा को दी जा रही प्राथमिकता

    विद्यार्थियों की पटसंख्या ज्यादा रहने से स्कूल 9 से 12 तथा 12 से 3 बजे तक दो सत्रों में शुरू की गई है़  पहले दिन विद्यार्थियों में काफी उत्साह था़  ऐसे में बच्चों की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए शिक्षा विभाग द्वारा जारी सभी गाइड लाइन का पालन किया जा रहा है. 

    -संध्या केवलिया, मुख्याध्यापक-महिला आश्रम बुनियादी प्राथमिक स्कूल.

    पहले दिन विद्यार्थियों में रहा अच्छा उत्साह

    कोरोना के बाद स्कूलें बंद रहने से बच्चे घर में ही थे़  स्कूल के पहले दिन बच्चों तथा पालकों में काफी उत्साह दिखाई दिया़  आने वाले दिनों में स्कूल की पटसंख्या निश्चित ही बढ़ेगी़  

    -प्रशांत नागपुरे, मुख्याध्यापक-नवभारत प्राथमिक अभ्यास स्कूल.