Wardha ROB

Loading

वर्धा. शहर के बजाज चौक स्थित आचार्य विनोबा भावे आरओबी का काम बिते 5 वर्ष से पूरा नहीं होने के कारण सांसद रामदास तडस ने लोकसभा में प्रश्न उपस्थित कर सरकार ध्यान खींचा. केंद्रीय सड़क निधि के तहत 2015 में आरओबी के काम को मंजूरी देकर 45 करोड़ की राशि मंजूर की गई. 2016 में आरओबी का निर्माण कार्य आरंभ किया गया. नवंबर 2018 तक कार्य पूर्ण होना था, किंतु लोकनिर्माण विभाग व रेलवे विभाग की लेटलतीफी के चलते आरओबी का निर्माण अब तक पूरा नहीं हुआ हैं.

रेलवे विभाग की ओर से आरओबी के डिजाइन में निरंतर बदलाव करना व उसे समय पर मंजूरी नहीं मिलने के कारण काम ठंडे बस्ते में पड़ा था. जिसके कारण सांसद रामदास तडस लोकसभा में मसला उपस्थित किया था. जिस पर जबाब देते हुए भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 6 महीने के भीतर आरओबी का काम पूरा करने की घोषणा की. सिर्फ यह घोषणा भी हवाहवाई हुई थी.

आचार्य विनोबा भावे पुल संकीर्ण होने होने के कारण ट्राफिक जाम लगा रहता हैं. जिससे नागरिक व वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. आरओबी का काम समयावधि होने के बाद भी 5 वर्ष में पूर्ण नहीं होने के कारण जनता में आक्रोश बढ़ता जा रहा है. परिणमवश आरओबी का काम शीघ्रता से पूरा करने की मांग तडस ने की.

आरओबी का काम अंतिम चरण में है. गडर का कार्य पूर्ण हुआ, किंतु रेलवे विभाग ने मेगा ब्लॉक को मंजूरी नहीं दी. जिसके कारण गडर लॉचिंग का कार्य पेंडिंग पड़ा है. रेलवे विभाग की ओर से तत्काल रूप से मेगा ब्लॉक लेकर गडर लॉचिंग की अनुमति देने की मांग सांसद तडस ने की.