Traffic Signals

    वर्धा. वाहनों की संख्या में निरंतर वृद्धि होने से शहर की ट्रैफिक आउट ऑफ कंट्रोल हो रही है़  ऐसे में यातायात विभाग के सहयोग से नगर परिषद ने 3 प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल्स शुरू किए थे़, किंतु सड़क के निर्माणकार्य की वजह से ट्रैफिक प्रणाली बंद पड़ गई़  जिसे पुन: सुचारू करने के लिए नगर परिषद ने मेंटनेंस की निविदा निकाली, मगर डेडलाइन के बाद साढ़े तीन महीने बीत जाने के बावजूद ठेकेदार ने कार्य पूर्ण नहीं करने से नोटिस जारी की़  ट्रैफिक सिग्नल्स सुचारू करने सोलरबेस कंट्रोलर नहीं मिल रहे, ऐसा जवाब ठेकेदार ने नोटिस में दिया है. 

    लाखों रुपयों का खर्च कर नगर परिषद की ओर से छत्रपति शिवाजी महाराज चौक, राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज चौक आर्वी नाका, बजाज चौक पर ट्रैफिक सिग्नल्स कुछ वर्षों पहले शुरू किए गए़  ट्रैफिक सिग्नल्स की वायरिंग जमीन से अंडरग्राउंड डाली गई थी़, मगर इसके बाद शुरू हुए मार्ग के निर्माणकार्य की वजह से यह वायरिंग पूर्णत: क्षतिग्रस्त हो गई़  वायरिंग मरम्मत कार्य के लिए फिर से नवनिर्मित मार्ग की खुदाई संभव नहीं. जिससे सोलरबेस कंट्रोलर लगाने का निर्णय लिया गया़, मगर अब तक ठेकेदार ने काम पूर्ण नहीं किया है. 

    चाइना से नहीं हो रही आपूर्ति

    वर्क ऑर्डर अनुसार ठेकेदार को 5 जुलाई 2021 तक ट्रैफिक सिग्नल्स शुरू करने जरूरी थे़  पुणे स्थित न्युक्लिऑनिक्स नामक कंपनी को इसके लिए 9 लाख रुपयों का ठेका दिया है़ ठेकेदार को नोटिस जारी करने के बाद उसने जवाब में कहा है कि ट्रैफिक सिग्नल्स के लिए सोलरबेस कंट्रोलर चाइना से आते हैं. आपूर्ति नहीं होने से फिलहाल काम करना संभव नहीं हो रहा, ऐसा कहते हुए ठेकेदार ने कार्य पूर्ण करने पल्ला झाड़ दिया है. 

    वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी

    ठेकेदार को जल्द ट्रैफिक सिग्नल्स शुरू करने के आदेश दिए हैं. जिस पर उसने अन्य वैकल्पिक व्यवस्था करने की बात मान्य की है़  जल्द से जल्द ट्रैफिक सिग्नल्स सुचारू करने के दृष्टिकोण से हमारे प्रयास जारी है.  

    -सतीश जाधव, अभियंता, नप विद्युत विभाग