Janwadi mahila Sangathan

    वर्धा. जनवादी महिला संगठन की वर्धा जिला कमेटी की सभा में राज्य अध्यक्षा नसिमा शेख ने जिले में शुरू अवैध शराब बिक्री पर तंज कसते हुए इसे तुरंत बंद करने की मांग की है़ अन्यथा पुलिस थानों के सामने तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है़ इस प्रसंग पर संगठन की राज्य सचिव प्राची हातीवलेकर, वर्धा जिलाध्यक्ष प्रतीक्षा हाडके, जिला सचिव दुर्गा काकडे उपस्थित थे.

    मार्गदर्शन करते हुए नसिमा शेख ने कहा कि, वर्धा जिला शराब बंदी जिला होने के साथ ही गांधी-विनोबा के पदस्पर्शों से पुनित होने के कारण 1975 से सरकार ने शराबबंदी की है़ इतना ही नहीं, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां 15 वर्ष मुख्यमंत्री रहे उस गुजरात में भी शराब बंदी पर अमल किया गया़ आज वे देश के प्रधानमंत्री है़ं भारत यह गांधीजी के विचारों का देश है़ जिससे देशभर शराबबंदी क्यों नहीं की जाती़ वर्धा जिले की शराबबंदी केवल कागजातों पर सिमट गई है.

    ग्रामीण क्षेत्रों में खुलेआम शराब बिक्री

    ग्रामीण क्षेत्र में खुलेआम शराब बिक्री होने की बात नसिमा ने कही. यह अवैध शराब के धंधे बंद कर शत प्रतिशत शराबबंदी करें, अन्यथा तिव्र पुलिस थानों के सामने तिव्र आंदोलन किया जाएगा, ऐसी चेतावनी नसिमा शेख ने दी है़  जिसे उपस्थित सभी महिलाओं ने समर्थन दिया़  उसी प्रकार प्रतीक्षा हाडके, प्राची हातीवलेकर ने भी अपना मनोगत व्यक्त किया़  जिला सेक्रेटरी दुर्गा काकड़े ने कार्यों का जायजा लेकर संचालन किया़  आभार दीपमाला मालेकर ने माना.

    बैठक में निर्मला वाघ, सविता निमजे, कांचन हिंगे, अरुणा सकरे, कुंदा घंगारे, दीपमाला मालेकर, छाया दरवेकर, बेबी मन्ने, रमा चाटे, आरती पवार, जीजाबाई आढणकर ने उपस्थित थे़  2021 वर्ष में जिले में 7 हजार सभासदों का पंजीयन करने का संकल्प महिलाओं द्वारा किया गया.