28 को फसल बीमा कंपनी के खिलाफ में, सांसद भावना गवली का जवाब दो आंदोलन

वाशिम. संकट में घीरे किसानों का इस बार फसल बीमा कंपनी ने गला घोट दिया है़ यवतमाल जिले के 4 लाख 67 हजार 21 किसानों से धोकाधड़ी करनेवाले फसल बीमा कंपनी के विरुद्ध किसानों के आंदोलन में जिले के किसानों ने बड़ी संख्या में उपस्थित रहने का आहवान वाशिम –यवतमाल निर्वाचन क्षेत्र की सांसद भावना गवली ने किया है. किसान यह देश की रीढ़ होकर वह टुटना नही चाहिए़  इस के लिए दिल्ली में अपने किसान बंधु और बहनें अधिकार के लिए ठंड में आंदोलन कर रहे है़.

दूसरी ओर यवतमाल जिले की खेती पूरी तरह से तबाह हो गई है़  ऐसे समय किसानों को फसल बीमा इन्कार करने से बीमा कंपनी को जवाब पूछने के लिए इस आंदोलन का आयोजन किया गया है. प्राकृतिक से होनेवाले नुकसान को ध्यान में लेते हुए जिले के 4 लाख 67 हजार किसानों ने फसल बीमा निकाला था़  यवतमाल जिले में इफ्को टोकीओ जनरल इन्शुरन्स कंपनी में 167 करोड़ रुपए फसल बीमा जमा हुआ़.

लेकिन इस बीमा कंपनी ने नियमों के निकषों पर उंगली रखकर सोयाबीन, कपास और अन्य फसलों को बीमा, कंपनी ने किसानों को न देने से किसान परेशान हो गया है़  इस कंपनी के धोकाधड़ी के अनुसार यवतमाल जिले के केवल 9,776 किसानों को 9 करोड़ 38 लाख रुपयों का वितरण किया गया़ जिले के 4 लाख 57 हजार 245 किसानों ने किश्तों को लेकर भरे हुए 158 करोड़ रुपए निकषों पर उंगली रखकर हड़पने का प्रयास बीमा कंपनी कर रही है़.

इसलिए दारव्हा तहसील के सभी किसानों ने अपने अधिकार की मांग को लेकर बीमा कंपनी के विरोध में यवतमाल में सोमवार 28 दिसंबर को 11 बजे टिंबर भवन स्टेट बैंक चौक में किसानों ने जवाब दो आंदोलन में शामिल होने का आहवान सांसद भावना गवली ने किया है़.