accident
File Pic

    आसेगांव. बीते डेढ़ माह से आसेगांव के स्टैण्ड चौराहे पर सड़क के बीचो बीच एक बड़ा गड्ढा निर्माण हुआ है. जिस कारण उक्त गड्ढे के स्थान पर अब तक आठ से अधिक बाइक सवार लोग गिरने की घटनाए घटित हो चुकी है. फिर भी प्रशासन कुंभकर्णी नींद में सोया हुआ है. शायद किसी की जान जाने पर प्रशासन नींद से जागेगा. ऐसी तर्क वितर्क की चर्चाएं अब सभी करने लगे है.

    बीते डेढ़ माह पूर्व से स्टैण्ड चौराहे पर एक बड़ा गड्ढा बहते पानी के कारण निर्माण हुआ था. जिस की अभी तक किसी भी प्रकार से कोई दखल ना तो संबंधित स्थानीय प्रशासन ने ली है़  और नाही सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा अब तक गड्ढे के पैचिंग कार्य को लेकर सतर्कता बरती गई है.

    ऐसे में दोनों विभागों की लापरवाही किसी ना किसी दिन किसी बाइक सवार की जान लेने के बाद उजागर हो सकती है. जबकि गड्ढा डेढ़ माह में फैलकर 8 फीट का बन गया है. और इस मार्ग से रात दिन छोटे बड़े वाहनों का आवागमन शुरू रहने के कारण कभी भी गड्ढे के कारणवश दुर्घटना घटित हो सकती है. क्योंकि गड्ढा कितना बड़ा और कितना गहरा है़.

    इस का अनुमान गड्ढे में जमने वाले पानी के कारण कोई भी वाहन चालक नहीं लगा सकता. इसी वजह से तो बीते डेढ़ माह में आठ बाइक सवार इस गड्ढे वाले स्थान पर गिर चुके है. जिसमें पांच महिलाएं घायल भी हुई है़  आखिर कब इस गड्ढे को पैचिंग कर पाटा जाएगा? क्यों इतनी लापरवाही इसे लेकर बरती जा रही है़  उक्त बातें चर्चा का विषय बनी हुई है.  

    क्या जान जाने पर होगा गड्ढे का पैचिंग

    बस स्टैण्ड चौराहे पर बना गड्ढा जान लेवा होता जा रहा है. बीते तीन दिनों पूर्व में ही गड्ढे से बाइक उछलकर एक महिला सड़क पर गिरी. ऐसी अनेक घटनाएं घट चुकी है. क्या किसी की जान जाने पर ही गड्ढे का पैचिंग होगा. इस पर लोकनिर्माण विभाग समेत संबंधित ग्राम पंचायत को भी तत्काल ध्यान देना आवश्यक होगा.- फिरोज शाह, सामाजिक कार्यकर्ता, आसेगांव.