Vaccination

    वाशिम. कोरोना वायरस को प्रतिबंध करने के लिए टीकाकरण करना आवश्यक है़  तहसीलस्तरीय प्रणाली ने सुक्ष्य नियोजन करके ग्रामीण व शहरी भागों के सभी पात्र व्यक्ति का 30 नवंबर तक पहले डोज का शत प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण करने के निर्देश जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने दिए है़  सोमवार को जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने कोरोना टीकाकरण का जायजा लिया़  इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी सुनील निकम, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़ अविनाश आहेर व प्रभारी जिला शल्य चिकित्सक डा. डी.पी.खेडकर आदि उपस्थित थे़ 

    इस अवसर पर जिलाधिकारी षन्मुगराजन ने कहा कि प्रत्येक तहसील में प्रतिदिन 3,000 तो जिले में प्रतिदिन 15,000 व्यक्ति का टीकाकरण किया जाना चाहिए़  प्रत्येक तहसील में टीकाकरण के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करें. प्रतिदिन किए गए टीकाकरण का शाम को तहसीलदार व गटविकास अधिकारी ने जायजा लेना चाहिए़  प्रत्येक गांव में अभी तक टीकाकरण हुए व्यक्ति की सूची गांवस्तरों पर आशा सेविका की ओर उपलब्ध रहना चाहिए़  जिनका टीकाकरण नहीं हुआ उनसे संपर्क कराके उनको टीकाकरण केंद्रों पर आने के लिए सूचित करना चाहिए. टीकाकरण की अधिक से अधिक जागरुकता करना चाहिए़ 

    टीकाकरण के लिए ग्रामीण भागों में जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, सरपंच व सदस्य तो शहरी भागों में नगराध्यक्ष व पार्षदों का सहयोग लेना चाहिए़  नगर परिषद क्षेत्र में मुख्याधिकारी ने सर्वेक्षण करके कितने पात्र व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ है़  और कितने शेष रहे है़  इस की जानकारी लेनी चाहिए. शनिवार व रविवार की छुटी के दिन भी टीकाकरण करें. किसी भी स्थिति में 30 नवंबर तक पहले डोज का टीकाकरण शत प्रतिशत पूर्ण करने के निर्देश दिए.

    इस अवसर पर जिप के सीईओ निकम ने कहा कि जिले के प्रत्येक गांव व शहर में 30 नवंबर तक पहला डोज शत प्रतिशत पूर्ण करने के लिए प्रणाली के अधिनस्त अधिकारी व कर्मचारी और पुलिस पाटिल, सरपंच व जनप्रतिनिधियों का सहयोग लेना चाहिए़  घर घर जाकर सर्वेक्षण करना चाहिए. नोडल अधिकारियों ने कार्यक्षेत्र में जाकर टीकाकरण का शत प्रतिशत का लक्ष्य पूर्ण करने के लिए पहल करना चाहिए. 

    इस अवसर पर तहसीलस्तरीय प्रणाली ने शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए किए गए नियोजन व तैयारी की जानकारी दी. सभा में तहसीलदार, गट विकास अधिकारी, तहसील स्वास्थ्य अधिकारी, गटशिक्षणाधिकारी, नगर परिषद व नगर पंचायत के मुख्याधिकारी व बाल विकास प्रकल्प अधिकारी उपस्थित थे़.