लगातार बारिश से जनजीवन प्रभावित, फसलों की नुकसान की संभावना

    • किसानों में चिंता की स्थिति 

    वाशिम. करीब पिछले एक सप्ताह से कम अधिक प्रमाण में कभी खुला तो कभी रिमझिम तो कभी मूसलाधार बारिश से सोयाबीन की फसल नुकसान होने की कगार पर पहुंच गई है़  तो सोमवार की रात से लगातार मंगलवार दिन भर हो रही जोरदार बारिश से जनजीवन प्रभावित हो गया है़ 

    सोमवार को दोपहर 4 बजे शहर के साथ परिसर में हुई अच्छी बारिश के बाद शाम तक बारिश ने विश्रांती ली व बाद में रात से जोरदार बारिश शुरू हुई जो की मंगलवार दोपहर 2 बजे तक जारी रही़  बाद में रिमझिम बारिश शुरू रही़  इस बारिश के कारण मंगलवार को सुबह शुरू होनेवाले कामकाज प्रभावित हुए थे़.

    इस दौरान जिला परिषद व पंचायत समिति के उप चुनाव आनेवाले कुछ दिनो में होने वाले है़ जिससे ग्रामों में प्रचार में बाधा पहुंच गई है़  जिले में 30 सितंबर तक बारिश होने का अनुमान मौसम विभाग ने देने से इसी प्रकार की बारिश शुरू रही तो किसानों के साथ व्यापारी, फेरीवाले व रोजंदारी करनेवालों के काम प्रभावित होने की संभावना नजर आ रही है़  

    इस वर्ष राहतपूर्ण बरसात होने का अनुमान मौसम विभाग ने बताया था़  जिससे खरीफ मौसम के फसलों का उत्पादन भी अच्छा होने की किसानों की अपेक्षा थी़  इसके अनुसार जून महीने तक अच्छी राहतपूर्ण बरसात भी हुई़  लेकिन अब सोयाबीन की फसल फल्ली पर आकर निकालने पर आयी तो बारिश ने सभी झकझोर दिया़  कही पर रिमझिम तो कही पर मूसलाधार बारिश शुरू है़  जिससे जिले के हजारों एकड़ फसलों का नुकसान होने की संभावना निर्माण हो रही है़  खेत में पानी का जमाव होने से फसले पीली पड़ रही है़.

    सोयाबीन समेत उड़द, मूंग समेत सब्जियों की फसल भी करीब करीब नष्ट होने की कगार पर पहुंच गई है़  जिससे किसानों में चिंता का वातावरण निर्माण हो रहा है़  जिले की बाजार पेठ भी अधिकतर किसानों पर ही निर्भर है़  मंगलवार को सुबह से बारिश रहने से शहर के दूकानों पर भी ग्राहक की कमी नजर आयी़  लोग घर में ही दबके रहे़ 

    जिले में अभी तक 1,002 प्रश वर्षा 

    जिले में गत 24 घंटे में वाशिम में 34.4 मिमी, रिसोड में 24.4 मिमी, मालेगांव 33.5 मिमी, मंगरुलपीर 34.0 मिमी, मानोरा में 37.9 मिमी, कारंजा में 30.9 मिमी. इसी तरह से जिले में एक जून से अभी तक कुल 1,002 प्रश वर्षा दर्ज की है. इस में वाशिम तहसील में अभी तक कुल 974.6 मिमी, रिसोड तहसील में 964.6 मिमी, मालेगांव तहसील में 1,037.5 मिमी, मंगरुलपीर में 1,141.3 मिमी, मानोरा तहसील में 1,045.8 मिमी तो कारंजा तहसील में 883.5 मिमी वर्षा दर्ज की गई है़.