Action will be taken to sell at higher prices, Agricultural Development Officer issued order

    • जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. 
    •  रबी मौसम पूर्व तैयारी जायजा बैठक 

    वाशिम. रबी मौसम में किसानों को बुआई के लिए बीज, खाद की किल्लत निर्माण नहीं होना व उसी प्रकार से किसानों व्दारा इस संबंध में शिकायत नहीं आएगी इस का ध्यान रखते हुए बीज, खाद समय पर उपलब्ध कराने के निर्देश जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने दिए है़  सोमवार को रबी मौसम पूर्व तैयारी जायजा बैठक का आयोजन जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी़ 

    इस अवसर पर वे बोल रहे थे़  बैठक में जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी शंकर तोटावार, प्रभारी जिला अग्रणी बैंक व्यवस्थापक सुर्यकांत फालके, महाबीज के जिला व्यवस्थापक डा़ प्रशांत घावडे, जिला मध्यवर्ती सहकारी बैंक के सरव्यवस्थापक वी.एम.सरनाईक, जिला परिषद मुहिम अधिकारी सी.पी.भागडे, कृभको के मार्केटिंग व्यवस्थापक डी. एम. सुर्यवंशी, जिला उप निबंधक के प्रतिनिधि पी.टी. सरकटे, आरसीएफ के उप प्रबंधक एस.बी वैनदेशकर, तंत्र अधिकारी डी.ए. कंकाल, एस.एम.मकासरे आदि उपस्थित थे. 

    इस अवसर पर जिलाधिकारी षन्मुगराजन एस. ने कहा कि रबी मौसम में किसानों के घर के बीज का उपयोग करने के लिए कृषि विभाग ने प्रोत्साहित करना चाहिए़  महाबीज ने रबी मौसम में बीज की किल्लत निर्माण नहीं होना इस का ध्यान रखना चाहिए़  कोहरा गिरने पर तुअर पर आनेवाले कीटकों को नष्ट करने के लिए कौन से कीटनाशक का किसानों ने छिड़काव करना इस संबंध में कृषि विभाग ने समय समय पर  मार्गदर्शन करना चाहिए. जनप्रतिनिधि की उपस्थिति में उनके क्षेत्र में जाकर कीटनाशक छिड़काव का प्रात्यक्षिक बताए़  रबी मौसम में फसल कर्ज वितरण के लिए बैंकों ने संमेलन का आयोजन करने का भी जिलाधिकारी ने बताया़ 

    रबी मौसम का क्षेत्र 1 लाख 3 हजार 600 हेक्टेयर 

    इस अवसर पर जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी तोटावार ने कहा कि महाबीज के बीज खरीदी करने के साथ ही कुछ निजी कंपनियों के संशोधित बीज किसान खरीदी करते है़  जिले में रबी फसल रोपाई का क्षेत्र सामान्यतहा 82,000 हेक्टेयर है़  इस वर्ष का नियोजित रबी मौसम का क्षेत्र 1 लाख 3 हजार 600 हेक्टेयर है़  इस में गेहूं, ज्वार, मक्का, चना, करडई फसलों का समावेश है. 35,000 हेक्टेयर पर गेहूं और 65,000 हेक्टेयर पर चना फसल का नियोजन है़.

    इस वर्ष 65 प्रश बीज घरेलू उपयोग करने का नियोजन है. जिले में यूरिया, डीएपी.एमओपी, एसएसपी, संयुक्त व मिश्र खाद का 25,230 मे. टन स्टाक उपलब्ध है. अभी तक 6,017 मे टन खाद की बिक्री की गई है़  जिले में रबी मौसम के लिए 33,927 क्विंटल बीज उपलब्ध रहने की जानकारी भी तोटावार ने दी है. 

    रबी मौसम में 75 करोड़ रू. फसल कर्ज वितरण का लक्ष्य 

    इस अवसर पर प्रभारी जिला अग्रणी बैंक व्यवस्थापक फालके ने कहा कि वर्ष 2021-22 के रबी मौसम में 75 करोड़ रुपए फसल कर्ज वितरण का लक्ष्य है. अभी तक 11 करोड़ रुपयों का फसल कर्ज वितरित किया गया है.