ST BUS
File Photo

    आसेगांव. बीते अनेक दिनों पूर्व से एसटी कर्मचारियों को सरकार द्वारा सरकारी विलिकरण किए जाने की मांग राज्य स्तर पर जारी है. लेकिन कर्मचारियों की मांगों को लेकर सरकार पूरी तरह से लापरवाही की भूमिका अपनाए हुए है. एसटी कर्मचारियों को सरकार द्वारा विलिकरण किया जाए. इन मांगों को लेकर मंगरुलपीर डिपो के कर्मचारियों ने भी बंद को अपना समर्थन देते हुए 4 नवंबर से बंद में अपना समावेश किया है. 

    जिस वजह से मंगरुलपीर डिपो की सभी बसों के पहिए दीपावली की मध्यरात्रि से रुक गए. बस बंद से इस का असर आम यात्रियों को होने लगा. साथ ही बस बंद रहने से डिपो का लाखों रुपए का आर्थिक नुकसान भी होने की बात सामने आई है. संबंधित विभाग के अधिकारियों को काम बंद आंदोलन किए जाने का लिखित निवेदन देकर 4 नंवबर की मध्यरात्रि से काम बंद कर दिया है. जब तक मांगे पूरी नहीं होगी तब तक काम बंद को हमारा भी समर्थन रहने की बात निवेदन में अवगत कराई गई है.

    यात्रियों की हुई परेशानी 

    एसटी कर्मचारियों द्वारा अपनी मांगों को लेकर पुकारे गए बंद के कारण मंगरुलपीर डिपो से दौड़ने वाली सभी बस बंद रहने से यात्रियों को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ा. निजी वाहनों में अतिरिक्त किराया अदा कर यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ा.