Maha Shivratri 2022
File Photo

    • की जाएगी भक्ति के साथ पूजा, अर्चना

    वाशिम. 1 अगस्त को सावन का पहला सोमवार होने से इस दिन से आनेवाले एक महिने तक विशेष कर हरेक सोमवार को शहर के सभी शिवालयों में शिव भक्तों की चहल पहल रहेगी. भगवान शिव की भक्ति के साथ पूजा, अर्चना की जाएगी. हालाकि सावन महिने का आरंभ गत 14 जुलाई से हुआ है, लेकिन मराठी पंचाग के अनुसार अमावस्या से यह सावन महिना शुरु होता है़. इस दौरान 28 जुलाई को अमावस्या हुई व सावन महिना शुरु हो गया़  यह महिना अगले अमावस्या यानि 26 अगस्त तक रहेगा़ इस बार सावन में 4 सावन सोमवार पड़े हैं.

    1 अगस्त को सावन का पहिला सोमवार है़  यह महिना भोलेनाथ का सबसे प्रिय महिना होने की मान्यता है़  मान्यता यह भी है कि, इस महिने में भगवान शिव सो जाते है़  तब रुद्र सृष्टि के संचालन का काम संभालते है़  जो फटाफट भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं. भगवान शिव की आराधना का पावन महिना शुरु हो गया है़  सावन महिने में प्रत्येक सोमवार को शिवभक्त दुध, दही, गंगाजल, शुध्द जल, सरसो का तेल का अभिषेक करते है़  बेलपत्र भी शिवजी को अर्पित करते है.

    भगवान शिव के उपासना का महिना 

    भगवान शिव की उपासना का यह महिना होने से शहर के साथ जिले भर में शिवालयों में भक्तों में बड़ा उत्साह रहेगा़  व्रत, उपवास, अभिषेक, जप, अनुष्ठान आदि धार्मिक विधियां इस महिने में भक्त करते हैं. कुछ शिवालयों में रोषनाई की गई है स्थानीय पालेश्वर शिव मंदिर, करुणेश्वर मंदिर, मध्यमेश्वर मंदिर, चंद्रेश्वर शिव मंदिर, पदमेश्वर शिव मंदिर, कालेश्वर मंदिर, खोलेश्वर शिव मंदिर, महादेव मंदिर के साथ शहर के अन्य मंदिरों में शिव भक्तों का दर्शन हेतु विशेषकर हरेक सोमवार को भारी भीड़ रहती है़  इस माह में रुद्र अभिषेक का विशेष महत्व रहता है़  वहीं लघुरुद, महारुद्र, अतिरुद्र के पाठ भक्त करते है व शिवलिंग की पूजा करते है़