दीपावली पर्व हुआ शुरू,धनतेरस में रही मार्केट में धूम

    यवतमाल. आगामी 4 नवंबर को भारतीय संस्कृती का सबसे बडा पर्व दिपावली में दिपोत्सव मनाया जाएंगा. इससे पुर्व आज 2 नवंबर धनतेरस से पारंपारिक तौर पर दिपावली की शुरुआत हुई. इसी बीच दिपावली पर परिवार समेत खरीदी करने पहूंचे नागरिकों से कपडा दुकानों, घरेलु साजसज्जा की दुकानों पर बडे पैमाने पर खरीददारी जारी रही.

    शहरभर में छोटे बडे व्यवसायी मार्केट में खरीदी की धुम बढने से राहत जताते दिखें.बिते दो दिनों सें यवतमाल शहर के मार्केट में बडे पैमाने पर खरीददारों की भीड बढ चुकी है. शहर के इंदिरा गांधी मार्केट, नेताजी मार्केट, मेनलाईन समेत आर्णी मार्ग पर मार्केट में खरीददार बडे पैमाने पर पहूंचने से मार्केट में चहलपहल और रौनक छायी हुई है.

    सुबह से लेकर देर रात तक बाजार में दुकानों में खरीददारों की भीड उमडी हुई थी. कपडा मार्केट, अनाज मार्केट, सुखा मेवा की दुकानों, पटाखों से लेकर घरेलु साजसज्जा,रंगबिरंगी रंगोली की दुकानों पर बडे पैमाने पर खरीदी की गयी.दिपावली में लक्ष्मीपुजन के लिए बाजारों में खरीददार ग्राहकों की लक्ष्मी की मूर्तीयों, तस्वीरों, पुजा सामुग्री की दुकानों पर बडे पैमाने पर भीड उमड रही है.

    1 और 2 नवंबर को सरकारी वेतन मिलने के बाद बाजारों में रौनक छायी, इसके अलावा खरीफ फसल की बिक्री के बाद शहरी और ग्रामीण ईलाकों में किसान भी दिपावली के पर्व को मनाने खरीदी करने में जुटे है.जिससे सभी स्थानों पर इन दिनों रौनक छायी हुई है. किसान फसल बेंचने के बाद हाथ आए पैसों सें दिपावली के पहले कर्ज चुकाने के साथ ही दिपों का पर्व मनाने के लिए बाजारों में आ रहे है.

    धनतेरस पर जमकर हुई आभुषणों की खरीदी

    स्थानिय सराफा लाईन में धनतेरस के मौके पर सोने चांदी के आभुषण खरीदनेवाले ग्राहकों की भारी भीड रही.दिपावली के पहले दिन और लक्ष्मीपुजन के पुर्व आज धनतेरस पर पारंपारिक तौर पर बडे पैमाने पर क्षमता के मुताबिक सोनेचांदी के आभुषणों की खरीदी होती है.जिससे आज सराफा लाईन में गहनों की खरीदी में करोडों रुपयों की उलाढाल होने की जानकारी मिली. इसके अलावा खरीफ फसल बेंचने के बाद हाथ आयी राशी से किसान गिरवी रखें गहनों को छुडाने, नए गहने बनाने सराफा दुकानों में पहूंचे.यवतमाल जिले में शहरी और ग्रामीण ईलाकों में कमोबेश सराफा दुकानों में आम नागरिकों और किसानों के पहूंचने से ज्वेलर्स का अच्छा व्यापार आया. कोरोना महामारी के बाद अब जनजीवन धीरे धीरे सामान्य हो रहा है, इससे मंदी कुछ पैमाने पर कम हुई है, एैसा अनुमान व्यापारीयों ने जताया है.