2231 candidates are in the fray for 994 seats in Thane district

  • जिले में मंगलवार तक 5,713 ने भरे नामांकन, तहसील कार्यालय रहा फुल

यवतमाल. जिले की 980 ग्रामपंचायतों में 15 जनवरी को चुनाव होने जा रहा है. बुधवार को आखरी दिन नामांकन दाखिल करनें के लिए विविध तहसील कार्यालयों में प्रत्याशी और उनके कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ पड़ी. चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने मंगलवार की शाम तक 5 हजार 713 से अधिक नामांकन जिले के विविध तहसील कार्यालयों में दाखिल किए गए.

जिले की 16 तहसीलों में से सबसे अधिक नामांकन उमरखेड़ तहसील 667 नामांकन दाखिल किए गए तो सबसे कम बाभुलगांव तहसील में अंतिम दिन 11 नामांकन आवेदन दाखिल किए गए. यवतमाल जिले में 30 दिसंबर को नामांकन भरने के अंतिम दिन आफ लाइन नामांकन दाखिल किए गए. 29 दिसंबर की शाम तक आर्णी तहसील में 66 ग्रामपंचायत में 397 नामांकन दाखिल किए. बाभुलगांव तहसील की 55 ग्रामपंचायतों में चुनाव होने वाले है. अंतिम दिन केवल 11 ही नामांकन दाखिल किए गए.

उमरखेड़ में सर्वाधिक 667, बाभुलगांव में केवल 11 आवेदन

इसके साथ ही अन्य तहसीलों में शामिल दारव्हा में 76 ग्रापं के लिए 464, दिग्रस में 48 ग्रापं के लिए 424, घाटंजी में 50 ग्रापं में 274, कलंब में 59 ग्रापं के लिए 314, केलापुर 45 ग्रापं के 290, महागांव 73 ग्रापं के लिए 466, मारेगांव में 31 ग्रापं में 170, नेर में 50 ग्रापं में 424, पुसद में 105 ग्रापं में 486, रालेगांव में 47 ग्रापं में 242, उमरखेड़ में 85 ग्रापं में 667, वणी में 82 में ग्रापं में 490, यवतमाल में 67 ग्रापं में 390 और झरी जामणी 41 में ग्रापं में 196 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किए. जिले में मंगलवार की शाम तक 5 हजार 713 से अधिक उम्मीदवारों नामांकन प्रस्तुत किए. 

ग्रापं चुनाव: सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां

ग्रामपंचायत चुनाव के लिए अधिकतर युवाओं ने नामांकन दाखिल किए. सभी तहसील में युवाओं की चुनाव की तैयारियां जोरों पर चल रही है. इसलिए तहसील कार्यालयों में बुजुर्गों से ज्यादा युवाओं की भीड़ दिखाई दे रही है. इच्छुक उम्म्मीदवारों के साथ उनके समर्थक आने से तहसील कार्यालय को यात्रा का स्वरूप आ गया, जिससे सामाजिक दूरी के नियमों की धज्जियां उड़ गई.