Gharkul, Hunger strike

  • योजना की राशि निकालने नहीं ली अनुमति

उमरखेड़. नगर परिषद के सामने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का अनशन सातवें दिन भी बरकरार रहा. लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाले अनुदान से नप प्रशासन के तत्कालीन मुख्याधिकारी व बैंक आफ महाराष्ट्र ने मिलीभगत करके 90 लाभार्थियों के खातों में से 29 हजार किसी की भी अनुमति न लेते तथा पर्ची पर हस्ताक्षर न लेते हुए राशि निकाल ली.

चौंकाने वाली जानकारी अनशन मंडप में अनशनकर्ताओं ने पत्र परिषद में दी. आवास योजना यह आम जनता को अधिकार का घरकुल देने के लिए कार्यान्वित की गई है. नप भाजपा की सत्ता है, फिर भी प्रधानमंत्री आवास योजना में अनियमितता करके आम जनता की लूट की है. नप प्रशासन, कर्मचारी, अधिकारी व पदाधिकारी तथा बैंक आफ महाराष्ट्र के मैनेजर के खिलाफ मामले दर्ज करने की मांग लाभार्थियों ने की है.

90 लाभार्थी, एक ही बैंक खाता क्रमांक

नगर परिषद की ओर से बैंक को 90 लाभार्थियों की राशि यह प्रधानमंत्री आवास योजना के खाते में जमा करने के लिए नाम ओर बैंक खाता क्रमांक की सूची दी गई. इस सूची पर 60304654623 यह एक ही नंबर दिखाने का कारनामा नप प्रशासन ने कर दिखाया है.

कटौती नियमानुसार नहीं 

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थियों की राशि की कटौती करने का सरकार का कोई भी निर्णय नहीं है. लाभार्थियों की राशि में कटौती की गई 29 हजार रुपए की राशि सरकार के नियमानुसार नहीं है. 

-चारुदत्त इंगुले, सीओ, नप.