मारे गांव तहसील का अतिवृष्टि का मुद्दा मंत्री वडेट्टीवार के दालान में

    • नरेंद्र ठाकरे के नेतृत्व में कॉग्रेस कमेटी ने सौंपा मंत्री को ज्ञापन

    मारेगांव. तहसील में अतिवृष्टी की मदद से वंचित कुंभा, वनोजादेवी, मारेगांव इन तीन राजस्व मंडलों के सभी गांवों को अतिवृष्टीग्रस्तों की सुची में शामिल करें और नुकसानग्रस्त किसानों को सरकार तात्काल आर्थिक मदद  दें, एैसी मांग तहसील कॉंग्रेस के नेता तथा कृषी उपजमंडी के सभापति नरेंद्र ठाकरे के नेतृत्व में राज्य के सामाजिक कल्याण तथा आपदा व्यवस्थापन मंत्री विजय वड्डेटीवार से की गयी है.किसानों की मांगों पर मंत्री वड्डेटीवार को तहसील कॉंग्रेस कमेटी ने ज्ञापन सौंपते हुए तहसील के किसानों की समस्याएं उनके सामने रखी गयी.

    इस समय मंत्री को तहसील में अतिवृष्टी से कपास, सोयाबीन को हुए नुकसान की जानकारी देकर बताया गया की, सरकारी सर्वे में नुकसानग्रस्त के तौर पर केवल दो मंडलों को शामिल कर तीन मंडलों के किसानों को दरकिनार कर दिया गया, इन किसानों को बारिश ने भारी नुकसान पहूंचाने के बाद उनपर अन्याय किया गया.नुकसानग्रस्त किसानों को सरकारी मदद मिलें, इसके लिए जिला कॉंग्रेस के महासचिव रमन डोये के पहले पर मारेगांव कॉंग्रेस कमेटी ने कैबिनेट मंत्री वड्डेटीवार से चंद्रपुर में मुलाकात कर मदद पर चर्चा कर ज्ञापन सौंपा.

    इस मामलें में जानकारी देकर बताया गया की, तहसील के मारेगांव तहसील के जलका, मार्डी, मारेगांव, वनोजादेवी, कुंभा इन पांच मंडलों के हजारों किसानों को बारिश से प्रचंड नुकसान पहूंचा, लेकिन इनमें केवल दो राजस्व मंडलों के किसानों को ही सरकार ने नुकसान मुआवजा के तौर पर आर्थिक मदद घोषित की है, इनमें कुंभा-मारेगाव-वनोजादेवी इन मंडलों के किसानों के खेतों में कपास,तुअर,सोयाबीन की खडी फसल बारिश ने बर्बाद कर दी, लेकिन इस राजस्व मंडल के हजारों किसानों के नाम मदद सुची से दरकिनार कर दिए गए, जिससे यहां के किसान आर्थिक परेशानी में घीरे हुए है.यह बात मंत्री के ध्यान में लायी गयी.

    इस समय प्रतिनिधीमंडल के साथ चर्चा में मंत्री वड्डेट्टीवार ने इस संदर्भ में यवतमाल के जिलाधिकारी को अतिवृष्टीग्रस्त किसानों के संदर्भ में पत्रव्यवहार कर दुबारा रिपोर्ट मांगने और किसानों को मदद हासिल हों, इसके लिए ठोस प्रयास करने का भरोसा दिलाया.